30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi

30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi : नमस्कार दोस्तों, आपको स्वागत है हमारे इस Blog पर, जहापर आज हम आपको बताएँगे “30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi. बादाम को सर्बश्रेष्ठ ड्राई फ्रूट्स माना जाता है।ड्राई फ्रूट्स का सेवन हेल्थ के लिए सबसे अच्छी डाइटरी हैबिट में से एक मानी जाती है। क्योंकि, ड्राई फ्रूट्स या सूखे मेवे ओमेगा-3 फैटी एसिड्स और विटामिन ई जैसे हेल्दी फैट्स से भरपूर होते हैं। इसके अलावा ड्राई फ्रूट्स का सेवन करने से शरीर को जिंक, पोटैशियम, डाइटरी फाइबर और विटामिन बी जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व प्राप्त होते हैं। 30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi.

बादाम खाने के कितने फायदे होते हैं इस बात को शायद सभी लोग जानते हैं और इससे जागरुख लोगों ने अपनी डाइट में भी शामिल किया होगा। खाने में क्रंची और प्रोटीन से भरपूर बादाम में फाइबर और ओमेगा 3 होता है। टेस्ट के साथ हेल्दी गुणों से भरपूर बहुत लोगों का पसंदीदा ड्राइफ्रूट है। पर लोगों के बीच इसको लेकर कंफ्यूजन है कि भीगे हुए बादम ज्यादा फायदेमंद होते हैं या फिर सूखे हुए बादाम का सेवन ज्यादा फायदा करता है। यहां हम आपको बता रहे हैं सूखे हुए बादाम खाने से कितना होगा और भिगो कर खाने से कितना फायदा होगा। आजके इस Article में हम आपको बतायेंगे — 30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi. तो आइए जानते हैं बादाम के फायदे के बारे में।

Table of Contents

एक नजर बादाम के बारेमें – Short Information of Almond in Hindi

वैज्ञानिकी रूप से बादाम के पेड़ में जो फल लगता है, उसके बीज को बादाम कहते हैं। जो कि पहाड़ी इलाकों में अधिक मात्रा में पाया जाता है। जो बादाम आप दुकान से खरीदते हैं वो बीज होता है। दरअसल बेचने से पहले उसके ऊपर के खोल (Shell) को निकालकर बेचा जाता है। बादाम में काफी मात्रा में हेल्दी फैट्स (Healthy Fat), एंटीऑक्सिडेंट्स (Antioxidant), विटामिन्स (Vitamins) और मिनरल्स (Minerals) पाए जाते हैं।

बादाम (Almond) का वैज्ञानिक नाम — प्रूनुस डल्शिस (Prunus Dulcis), प्रूनुस अमाइग्डैलस (Prunus Amygdalus) है। यह एक तरह का मेवा (Dry Fruits) है। इसे संस्कृत भाषा में — वाताद या वातवैरी, हिन्दी — मराठी, गुजराती व बांग्ला में — बादाम, फारसी में — बदाम शोरी और बदाम तल्ख, अंग्रेजी में — ऑलमंड (Almond) कहते हैं।

बादाम के पेड़ का मूल स्‍थान दक्षिण-पश्चिमी एशिया है। आर्थिक रूप से महत्‍वपूर्ण प्रूनुस डल्शिस पेड़ को मुख्य रूप से भूमध्यसागरीय जलवायु में उगाया जाता है। अमेरिका बादाम का दुनिया के कुल उत्पादन का लगभग 70 प्रतिशत उत्पादन करता है। कैलिफोर्निया में 25 प्रकार के बादाम उगाए जाते हैं। मार्को कर वालेंसिया बादाम स्‍पेन एवं फेरा जींस बादाम ग्रीस से आयात किए जाते हैं। मध्‍य पूर्व, भारतीय उपमहाद्वीप और उत्तरी अफ्रीका में भी बादाम का पेड़ पाया जाता है।फिलहाल अमेरिका दुनिया का सबसे ज्‍यादा बादाम पैदा (Production) करने वाला देश है। बादाम से दूध (Milk),तेल (Oil), मक्खन (Butter), आटा (Flour) आदि बनाया जाता है।

30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi

Benefits of Almond in Hindi

सुपर फूड की श्रेणी में शामिल बादाम के बारे में कौन नहीं जानता। हमारे घर के बड़े बुजुर्गों से अक्सर आपने यह बात सुनी होगी कि बादाम खाने से दिमाग (Mind) तेज होता है। नियमित रूप से बादाम खाना शरीर के लिए बेहद लाभकारी होता है। बादाम पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जो आपको दिनभर एनर्जी से भरपूर रख सकता है। बादाम खाने से दिमाग बहुत तेज होता है। बादाम में ढेर सारा पौष्टिक तत्व पाया जाता है। इसमें प्रोटीन, वसा, विटामिन और मिनरल पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं जो हमें शरीर के हर रोगों से बचाते हैं। तो चलिए जानलेते है — 30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi.

30+ बादाम खानेके फायदे (01 – 05)

1. हड्डियों को बनाए मजबूत

बादाम खाने से हड्डियां भी मजबूत होती हैं। इसमें कैल्शियम अच्छी मात्रा में होता है जो बोन्स की हेल्थ के लिए जरूरी न्यूट्रीशन है। बच्चों की हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए उन्हें बादाम खिलाना चाहिए। बादाम में कैल्शियम, मैग्नेशियम, मैंगनीज, विटामिन के, प्रोटीन और कॉपर, जिंक भी पाया जाता है. इन सभी से हड्डियां मजबूत बनती हैं।

2. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

कोरोना काल में इम्यूनिटी बढ़ाने (Boosts Immunity) के लिए आपको बादाम जरूर खाने चाहिए. बादाम खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है. न्यूट्रिएंट्स से भरपूर बादाम ब्लड क्लॉटिंग से भी बचाता है. बादाम प्रोटीन और आयरन का अच्छो सोर्स है. कई दूसरे पोषक तत्वों से भरपूर बादाम इम्यून सिस्टम को शक्तिशाली बनाता है.

3. शरीर में बढ़े ऊर्जा

बता दें कि बादाम में प्रोबायोटिक्स और फाइबर आदि महत्वपूर्ण पोषक तत्व पाए जाते हैं जो न केवल शरीर में उर्जा बनाए रखने में मददगार है बल्कि यह सुस्ती, थकान आदि को दूर भी रख सकते हैं। ऐसे में व्यक्ति रात में बादाम को भिगोए और अगले दिन उसका सेवन करें। इससे अलग चार से पांच बादाम बिना भीगे हुए भी व्यक्ति सेवन कर सकता है। ऐसा करने से दिनभर शरीर में उर्जा बनी रह सकती है।

4. कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में है मददगार

इसके अलावा, बादाम के सेवन से कुल कोलेस्ट्रॉल और बैड एलडीएल-कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रण समूह की तुलना में काफी कम कर दिया, जबकि ‘गुड’ एचडीएल-कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखा गया। मुंबई में सर विठ्ठलदास ठाकरसी कॉलेज ऑफ होम साइंस में प्रोफेसर और प्रिंसिपल जगमीत मदन ने कहा “किशोरावस्था और युवा वयस्कों पर लक्षित बेहतर पोषण और व्यायाम सहित जीवनशैली में बदलाव में प्री-डायबिटीज से टाइप-2 डायबिटीज की प्रगति को रोकने की क्षमता है। इस अध्ययन के परिणाम बताते हैं कि दो बार बादाम खाने से फर्क पड़ सकता है।”

5. पाचन क्रिया को बनाएं तंदुरुस्त

पाचन क्रिया को तंदुरुस्त बनाने में खाली पेट बादाम का सेवन एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। बता दें कि बदाम की स्किन में प्रोबायोटिक्स और फाइबर दोनों ही मौजूद होते हैं। ऐसे में इसके सेवन से आंतों के बैक्टीरिया की गतिविधि में सुधार लाया जा सकता है।

30+ बादाम खानेके फायदे (06 – 10)

6. नसों के लिए

बादाम में थोड़ी मात्रा में मैग्नीशियम भी होता है। यह नर्वस सिस्टम के लिए फायदेमंद है। मैग्नीशियम से हड्डियों के ऊतक बेहतर बनते है और स्वस्थ चयापचय दर भी विकसित होती है।

7. बादाम करते हैं हृदय स्वास्थ्य का समर्थन – Almond for heart health in Hindi

बादाम मैग्नीशियम से भरपूर होता है जो इसे ह्रदय का एक बहुत ही अच्छा साथी बना देता है। यह ना केवल रक्त प्रवाह (blood circulation) एवं रक्त चाप (blood pressure) में सुधार लाता है, अपितु दिल के दौरे के खतरे को भी कम करता है। बादाम में असंतृप्त वसा (non-saturated fat) होता है जो ह्रदय के स्वास्थ्य को बनाये रखता है और इसमें निहित विटामिन ई धमनियों (arteries) को हानिकारक प्रहार से बचाता है। दिल के स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए, अपने दैनिक आहार में एक मुट्ठी बादाम शामिल करें। आप बादाम नाश्ते के रूप में या अपने सूप, सलाद में डाल कर खा सकते हैं।

8. कैंसर से बचाव

बादाम के फायदे में कैंसर से बचाव को भी शामिल किया जा सकता है। एनसीबीआई द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन में बताया गया है कि बादाम में एंटीकैंसर प्रभाव होता है, जो कैंसर सेल लाइन को बढ़ने से रोक सकता है। साथ ही रिसर्च में कहा गया है कि खासकर कड़वे बादाम में मौजूद एमिग्डालिन में संभावित कैंसर का उपचार करना का प्रभाव हो सकता है।

9. दांतो की मजबूती

इसमें फास्फोरस होने की वजह से दांत मजबूत होते हैं और मसूड़ों की समस्या भी मिट जाती है।

10. बादाम खाने से होता है BP कंट्रोल

बादाम लोग खूब खाना पसंद करते हैं। जो लोग बादाम खाने से परहेज करते हैं या जिन्हें बादाम का स्वाद भाता नहीं है, वो इसे ना खाकर अपनी ही सेहत को नुकसान पहुंचा रहे हैं। हाल ही में हुए एक अध्ययन में यह कहा गया है कि बादाम सेहत के लिए कई तरह से लाभदायक है। अध्ययन में कहा गया है कि दिन भर में यदि आप दो बार बादाम का सेवन करते हैं, तो ग्लूकोज मेटाबॉलिज्म में सुधार होने के साथ ही कोलेस्ट्रॉल लेवल भी कंट्रोल में रहता है।

30+ बादाम खानेके फायदे (11 – 15)

11. विटामिन-E का है सबसे अच्छा सोर्स

बादाम विटामिन ई के दुनिया के सर्वश्रेष्ठ सोर्स में से हैं, केवल 28 gm बादाम से ही हमारी डेली जरूरत (RDI) का 37% हिस्सा मिल जाता है। इससे कैंसर, अल्जाइमर जैसी कई बीमारियां होने की संभावना काफी कम हो जाती है। बादाम Fat Soluble Antioxidant कैटेगरी में आता है। ये एंटीऑक्सिडेंट बॉडी में कोशिका झिल्ली (Cell Membranes) बनाते हैं, जो आपकी कोशिकाओं को ऑक्सीडेटिव डैमेज (Oxidative Damage) से बचाते हैं।

12. आंखों के स्वस्थ के लिए

बढ़ती उम्र के साथ-साथ आंखें भी कमजोर होने लगती हैं। ऐसे में आंखों की कमजोरी दूर करने के उपाय में बादाम के फायदे हो सकते हैं। दरअसल, बादाम में विटामिन ई और जिंक की भरपूर मात्रा पाई जाती है। ये पोषक तत्व आंखों से जुड़ी बीमारी एज रिलेटेड मैक्युलर डीजेनेरेशन को दूर रखने का काम कर सकते हैं। साथ ही बादाम में जिंक होता है, जो रेटिना को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी माना जाता है। इसी वजह से कहा जा सकता है कि बादाम के फायदे आंखों के लिए हो सकते हैं।

13. त्वचा के लिए उपयोगी

अगर खाली पेट बादाम का सेवन करता है तो इससे त्वचा को भी स्वस्थ बनाया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि बदाम में एंटी इंफ्लेमेट्री गुण मौजूद होते हैं जो न केवल ड्राई स्किन की समस्या को दूर कर सकते हैं बल्कि सोरायसिस, एग्जिमा जैसी समस्याओं से राहत दिलाने में भी उपयोगी है।

14. मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को सुधारे

बेहतर याददाश्त के लिए और मस्तिष्क की कार्य प्रणाली को बेहतर बनाने में बादाम का सेवन एक अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। बता दें कि जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है वैसे-वैसे व्यक्ति की यादास भी कमजोर होने लगती है। ऐसे में इस समस्या को दूर करने में बादाम बेहद उपयोगी है। बदाम के अंदर पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड और पॉलिफिनॉल्स मौजूद होते हैं जो याद्दाश्त को कम करने में उपयोगी हैं। वहीं अगर रात भर भीगे हुए बादामों को खाया जाए तो यादाश्त तेज हो सकती है।

15. मांसपेशियों की सेहत

भिगे हुए बादाम में प्रोटीन काफी मात्रा में होता है जो नई कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है।

30+ बादाम खानेके फायदे (16 – 20)

16. एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव

NCBI पर मौजूद एक रिसर्च के मुताबिक, बादाम में खासकर बादाम की त्वचा में एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होता है। यह धूम्रपान करने या अन्य कारणों से बढ़े ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से होने वाली प्रोटीन की क्षति को कम कर सकता है। साथ ही कई अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि एंटीऑक्सीडेंट शरीर के ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करके कैंसर, हृदय रोग, मधुमेह, अल्जाइमर रोग, पार्किंसंस रोग और नेत्र रोग संबंधी समस्याओं के जोखिम से बचा सकता है

17. मधुमेह (Diabetes) का स्तर हो प्रभावित

बता दें कि जिन लोगों को मधुमेह है वे अपनी डाइट में बादाम को जोड़ सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि बादाम के अंदर फाइबर, लो कार्बोहाइड्रेट और अनसैचुरेटेड फैट्स मौजूद होते हैं जो ना केवल Type 2 डायबिटीज के जोखिम को कम कर सकते हैं बल्कि यदि व्यक्ति खाली पेट बादाम का सेवन करें तो इससे ब्लड में ग्लूकोज का स्तर भी कम हो सकता है।

18. प्रेग्नेंसी में बादाम खाने के फायदे

प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए बादाम खाना लाभकारी होता है। जाने प्रेग्नेंसी में बादाम खाने के फायदे। गर्भवती महिलाओं को कब्ज की समस्या हो जाती है। बादाम में फाइबर होने की वजह से कब्ज में भी राहत मिलती है। बादाम में कैल्शियम होता है जो प्री-एक्लेम्पसिया का जोखिम कम करने में मदद करता है।

प्रेग्नेंट महिलाएं बादाम खाती हैं तो शिशु में जन्म के बाद अस्थमा और सांस से जुड़ी एलर्जी का खतरा कम होता है और यह शिशु के दांत व तंत्रिका तंत्र, हड्डियों के विकास में मदद करता है।

19. बच्चों के दिमाग और आईक्यू तेज (Child Brain Development)

बादाम से बच्चों का दिमाग तेज (Brain Development) होता है और आईक्यू लेवल बढ़ता है. बादाम में पाया जाने वाला प्रोटीन ब्रेन सेल्स को रिपेयर करने में मदद करता है। बादाम में विटामिन ई और ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जिससे दिमाग को हेल्दी रखने में मदद करता है। बादाम में मैग्नेशियम होता है जिससे दिमाग की नसें मजबूत होती हैं।

20. बादाम तेल के फायदे हैं बालों के लिए

एक बादाम अनेक बालों की समस्याओं का हल है, चाहे वो बाल झड़ने की समस्या हो या रूसी की। बादाम विटामिन ई, बायोटिन, मैंगनीज, तांबा, फैटी एसिड जैसे बालों के लिए अनुकूल पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। बादाम में निहित ज़िंक नई कोशिकाओं के नवीकरण को बढ़ाता है, बालों को झड़ने से बचाता है और उन्हें मज़बूत व घना बनाने में योगदान देता है। इसके तेल से मालिश करने से आपके बाल सुनहरे व लंबे भी होते हैं। लैवेंडर के तेल के साथ मिलाकर सिर की मसाज करने से दोमुँहे बाल कम होते हैं, रूसी समाप्त हो जाती है और बालों का झड़ना भी बंद हो जाता है।

30+ बादाम खानेके फायदे (21 – 25)

21. मुंहासों और ब्लैकहेड्स का इलाज

बादाम में फैटी एसिड होता है जो मुंहासों, ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स को रोकता है।

22. ग्लूकोज लेवल कंट्रोल करता है बादाम

बादाम ग्लूकोज के लेवल को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है। बादाम में विटामिन-ई और मैग्नीशियम पाए जाते हैं, जो हड्डियों को मजबूती, और शरीर में खून सुचारू के शुभरु रूप से बहाव में मदद करता है। बादाम मांसपेशियों को भी मजबूत बनाता है। डायबिटीज रोगियों को कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाने का सेवन करना चाहिए। कार्बोहाइड्रेट शरीर में ग्लूकोज के लेवल को कम करने में मदद करता है।

23. जन्म दोषों को रोकता है

बादाम मां को जन्म दोष से बचाता है। यह बढ़ते भ्रूण के जीवन चक्र में सुधार करता है। गर्भवती महिलाएं बादाम का सेवन करके अपने बच्चे को जन्म दोष के विकास से बचा सकती है।

24. कब्ज़ दूर करता है

भीगे हुए बादाम का सेवन करने से आपको कब्ज़ आदि की समस्या नहीं होती है क्योंकि बादाम में अधिक मात्रा में फाइबर होता है जिसकी वजह से आपक पेट अच्छे से साफ़ होता है।

25. स्ट्रेच मार्क्स का इलाज

बादाम का तेल त्वचा के लिए फायदेमंद होता है स्ट्रेच मार्क्स पर लगाने से इसमें आराम होगा।

30+ बादाम खानेके फायदे (26 – 30)

26. शुक्राणुओं की गतिशीलता बढ़ाने के लिए बादाम का सेवन

वीर्य संबंधी विकार कई लोगों की जिंदगी को नीरस बना देता है। ऐसा भी देखने को मिलता है कि जिस किसी व्यक्ति को वीर्य संबंधित समस्याएं होती हैं, उनको पिता बनने में परेशानी होने लगती है। इससे उनकी पारिवारिक जीवन से खुशियां खत्म होने लगती है।

बादाम खाने के फायदे यहां भी मिलते हैं। ऐसे लोग बादाम का इस्तेमाल कर सकते हैं। बादाम की गिरी का सेवन करने से वीर्य विकार खत्म होते हैं।

27. पोषक तत्वों से समृद्ध

बादाम कई तरह के पोषक तत्वों से भरपूर होता है, जो स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं। इसमें मुख्य रूप से प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, जिंक, विटामिन-ई और फोलेट जैसे पोषक तत्व होते हैं। बादाम में इन पोषक तत्वों के अलावा भी कई न्यूट्रिएंट्स होते हैं।

28. बादाम में होता है कामोत्तेजक गुण

अनेक लोग सेक्सुअल पॉवर की कमी जैसी समस्याओं से भी परेशान रहते हैं। अक्सर ऐसा देखा जाता है कि ऐसे लोग सेक्सुअल पॉवर को बढ़ाने, या ऐसी अन्य समस्याओं के लिए नीम-हकीम की मदद भी लिया करते हैं। अगर आप भी सेक्सुल पॉवर को बढ़ाना चाहते हैं, तो 5-10 बादाम की गिरी (Badam giri) में 1 ग्राम सोंठ, 20 ग्राम भुने चने, 1 ग्राम काली मरिच, तथा 20 ग्राम मिश्री मिला लें। इसे 5 से 10 ग्राम की मात्रा में सुबह और शाम को दूध के साथ सेवन करें। इससे कामोत्तेजना (सेक्सुअल पॉवर) में वृद्धि होती है।

29. एनीमिया के इलाज में

जब लाल रक्त कोशिकाएं मस्तिष्क में कम मात्रा में ऑक्सीजन पहुँचाती है तब एनीमिया होता है। बादाम में लोहा, तांबा और विटामिन होते हैं जो हीमोग्लोबिन बनाने में मदद करते हैं।

30. गठिया (Arthritis) में फायदेमंद बादाम का सेवन

गठिया, मोटापा या शरीर के अधिक वजन, या फिर बढ़ती उम्र में होने वाली बीमारी है। गठिया होने पर शरीर के कई अंग सामान्य रूप से काम करना बंद कर देते हैं। अंगों की गतिशीलता कम हो जाती है। गठिया से ग्रस्त मरीजों को बहुत दर्द भी होता है। गठिया से परेशान लोग बादाम आदि से बनी जीवनीय घी का सेवन करें। इससे गठिया में लाभ होता है।

30+ बादाम खानेके फायदे (30 +)

31. स्वप्न दोष को ठीक करने के लिए बादाम का इस्तेमाल

स्वप्न दोष एक आम समस्या है। कई लोग शर्म के कारण स्वप्नदोष का उपचार नहीं कराते हैं। इसके लिए भी बादाम का प्रयोग किया जा सकता है। 1 बादाम को भिगो लें, और इसका छिलका निकाल लें। इसे 3 ग्राम मिश्री के साथ पीस लें। इसमें 1 ग्राम गिलोय (उबालकर छाना हुआ काढ़ा), 3 ग्राम घी, तथा 2 ग्राम शहद मिला लें। इसे सुबह और शाम सेवन करें। इससे स्वप्नदोष दूर हो जाता है।

Note : सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

बादाम खाने का सही तरीका क्या है

बादाम को गुनगुने पानी में भिगोकर रात भर के लिए रख दें और सुबह छीलकर खा लें। विशेषज्ञों की मानें तो बादाम को खाने का सही तरीका रात में भिगाकर सुबह खाना है। ऐसा करने से सुबह यह नर्म होने के साथ चबाने में आसान भी हो जाता है। इसके अलावा आपके शरीर को भी बादाम पचाने में आसानी होती है। विशेषज्ञों के अनुसार भारत जैसे गर्म देश में एक दिन में 4-5 से ज्यादा बादाम नहीं खाना चाहिए और अगर इसे भिगोकर खाएं तो यह ज्यादा लाभकारी होगा। वैसे तो नियमित रूप से बादाम का सेवन हृदय, मस्तिष्क विकार, त्वचा और बालों को स्वस्थ्य बनाने, मधुमेह, खांसी, सांस-संबंधी समस्या और एनीमिया आदि में फायदेमंद होता है।

बादाम की पौष्टिक तत्व – Nutrients Value of Almond in Hindi

बादाम में विभिन्न तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं। बादाम में प्रोटीन, फाइबर, विटमिन ई, कैल्शियम, जिंक जैसे कई तत्व होते हैं। यह शरीर को अलग-अलग रूप में फायदा पहुंचाते हैं। इन सभी न्यूट्रिएंट्स के बारे में हम टेबिल के माध्यम से जानकारी दे रहे हैं। (Nutrient Amount Per 100 Gram Almond)

• Water — 4.41 gm
• Energy — 579 kcal
• Protein — 21.15 gm
• Fat — 49.93 gm
• Carbohydrates — 21.55 gm
• Fiber — 12.5 gm
• Sugar — 4.35 gm
• Calcium, Ca — 269 gm
• Iron, Fe — 3.71 gm
• Magnesium, Mg — 270 gm
• Phosphorus, P — 481 gm
• Potassium, K — 481 gm
• Sodium Na — 1 mg
• ज़िंक Zn — 3.12 mg
• Thiamine — 0.205 mg
• riboflavin — 1.138 mg
• niacin — 3.618 mg
• Vitamin B-6 — 0.137 mg
• Folate DFE — 44 µg
• Vitamin E (alpha-tocopherol) — 25.63 mg
• Saturated — 3.802 gm
• Monosaturated — 31.551 gm
• Polyunsaturated — 12.329 gm

बिना छिलके का बादाम खाने के फायदे

रातभर भिगोए हुए बादाम में मोनोसेच्युरेटेड फैट मौजूद होता है जो व्यक्ति के शरीर की चर्बी को कम करने का काम करता है। बादाम खाने से लिवर कैंसर का खतरा कम होता है क्‍योंकि इसमें विटामिन ई काफी मात्रा में होता है।

बादाम में मौजूद विटामिन ई अधिक उम्र में आंखों और दिल को होने वाले नुकसान से बचाने में भी मददगार होती है। एक शोध की मानें तो बादाम का सेवन करने से डाय

बिना छिलके का बादाम खाने के फायदे

रातभर भिगोए हुए बादाम में मोनोसेच्युरेटेड फैट मौजूद होता है जो व्यक्ति के शरीर की चर्बी को कम करने का काम करता है। बादाम खाने से लिवर कैंसर का खतरा कम होता है क्‍योंकि इसमें विटामिन ई काफी मात्रा में होता है।

बादाम में मौजूद विटामिन ई अधिक उम्र में आंखों और दिल को होने वाले नुकसान से बचाने में भी मददगार होती है। एक शोध की मानें तो बादाम का सेवन करने से डायबिटीज से बचाने और कोलेस्‍ट्रोल के स्‍तर को कम करने में भी मदद मिलती है।

बादाम के नुकसान – Side Effects of Almond in Hindi

बादाम के वैसे नुकसान नहीं हैं, परंतु अगर अधिक मात्रा में खाए जाएँ, तो अवश्य इनके सेवन से नुकसान हो सकता है –

1. शरीर में विषैले स्तर की वृद्धी

यह भी एक बड़ी समस्या में से एक है। कड़वे बादाम हाइड्रोसायनिक एसिड को शामिल करने के लिए जाने जाते है जोकि निम्न लक्षणों को दर्शाता है जैसे तंत्रिका तंत्र का धीमा होना, श्वास लेने की समस्या आदि ये घटक भी हो सकते हैं।

2. एलर्जी

यह बहुत दुर्लभ नुक्सान है। लेकिन कुछ लोगों में बादाम से एलर्जी की प्रक्रिया भी देखी गई है। जिसके लक्षण जैसे रशेस व् साँस लेने में कठिनाई आदि हो सकते है.

3. बैक्टीरिया की उपस्थिति

यह दुष्प्रभाव बादाम के लिए विशिष्ट नहीं है. लेकिन नट परिवार का हिस्सा होने के कारण बादाम जीवाणु वृद्धी के लिए प्रवण है. इससे बैक्टीरिया की उपस्थिति भी हो सकती है।

4. गेस्ट्रोइन्तेंस्तिनल समस्यायें

बहुत अधिक मात्रा में बादाम का सेवन करने से कब्ज की बीमारी हो सकती है. क्योकि इससे फाइबर बहुत अधिक मात्रा में आपके शरीर में प्रवेश करता है. जिससे आपकी पाचनशक्ति गडबडा जाती है. यह हमारे पेट के लिए भी हानिकारक होता है।

5. दवा से इंटरेक्शन

यदि आप मैंगनीज के समृद्ध आहार पर है और आप बादाम का भी सेवन कर रहे है, तो यह दवा से इंटरैक्ट कर सकता है। इसका कारण यह है कि इसमें भी मैंगनीज पाया जाता है और शरीर में मैंगनीज की अधिक मात्रा से जुलाब हो सकता है। यह दवाओं से इंटरैक्ट करता है।

6. अधिकमात्रा में विटामिन ई

हमे हर रोज 15 मिलीग्राम विटामिन ई की आवश्यकता होती है. बादाम की बड़ी मात्रा में उपभोग करके आवश्यक मात्रा से अधिक यानि 1000 मिलीग्राम से ऊपर तक यह पहुंच जाता है। इससे नुकसान यह है कि इससे दस्त, पेट फूलना, धुंधला दिखना, सिरदर्द, चक्कर आना और सुस्ती जैसे समस्या हो सकती है।

7. वजन बढ़ना

बादाम का सबसे बड़ा नुक्सान है कि इसकी अधिक मात्रा से वजन बढ़ जाता है। शरीर के लिए जरूरी होता है कि कैलोरी बहुत अधिक मात्रा में न हो और बादाम से बहुत जल्दी कैलोरी बढ़ जाती है जिससे वजन बढ़ने की समस्या हो सकती है।

इसे ऐलाबा और भी कुछ होता है ज्यादा बादाम खाने सें —

• बादाम के अत्यधिक सेवन से कब्ज और पेट की सूजन हो सकती है क्योंकि ये फाइबर में उच्च हैं।
• यादि आप एक मैंगनीज युक्त डाइट पर हैं और आप बादाम खाते हैं, तो यह आपकी दवाओं से हस्तक्षेप कर सकते हैं। इसका कारण यह है कि बादाम भी मैंगनीज से युक्त हैं। शरीर में मैंगनीज की उच्च राशि रेचक औषधीयों, एंटीबायोटिक दवाओं और कुछ ब्लड प्रेशर की दवाओं के साथ हस्तक्षेप कर सकता है। आपको अपने दैनिक आहार में केवल मैंगनीज की 1.3 से 2.3 मिलीग्राम की जरूरत है।
• कड़वे बादाम में हाइड्रोसायनिक एसिड होते हैं, जो तंत्रिका तंत्र को मंदा कर सकते हैं, सांस लेने में समस्या उत्पन्न कर सकते हैं जो घातक भी हो सकती है।

Note – जिन लोगों को पित्ताशय एवं गुर्दे से सम्बंधित कोई भी विकार हो, उन्हें बादाम का सेवन नहीं करना चाहिए।

एक दिन में कितना बादाम खाना फायदेमंद

दाम की तासीर गर्म होती है, इसलिए एक बार में ज्यादा बादाम का सेवन नहीं करना चाहिए। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार आप रोजाना सुबह 5-7 भीगे हुए बादाम का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए रात को सोते समय एक कटोरी पानी में बादाम भिगा दें और सुबह छिलका हटाकर इसका सेवन करें।

बादाम खाने का सही समय क्या है

बादाम खाने का सही समय सुबह खाली पेट या चाय के समय होता है। बादाम को सुबह खाली पेट खाने से अनेक लाभ मिलते हैं, सेवन के लिए इन्हें रात में ही भिगो कर रख दें। बिस्कुट, नमकीन या कोई अन्य स्नैक्स खाने की जगह बादाम चाय के साथ भी खाये जा सकते हैं।

बादाम भिगोकर क्यों खाना चाहिए

आयुर्वेद में बादाम का इस्तेमाल औषधि के रूप में किया जाता है। आयुर्वेद के अनुसार बादाम को भिगाकर खाने से इसके स्वास्थ्य लाभ दोगुना हो जाते हैं। इस प्रकार सेवन से यह सभी पोषक तत्वों को अवशोषित कर लेता है। हाल ही में आयुर्वेदिक चिकित्सक गीता ने अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट साझा कर बताया कि बादाम के छिलके में एंटीपोषक तत्व, फाइटिक एसिड और टैनिन की मात्रा अधिक होती है, यह पोषक तत्वों के अवशोषण को कम करता है और रक्त में पित्त को बढ़ा सकता है। इसलिए इसके छिलके को हटाकर इसका सेवन करें, भीगा हुआ बादाम खाने में मीठा और मक्खन की तरह होता है।

FAQs

भीगे हुए बादाम का सेवन क्यों करना चाहिए?
बादाम की त्वचा में टैनिन होता है, जो पोषक तत्वों के अवशोषण को रोकता है। इससे बादाम खाना कम उपयोगी हो जाता है। बादाम को थोड़ी देर के लिए गुनगुने पानी में भिगोने पर छीलना आसान होता है। बादाम का दूध बनाने के लिए आप भीगे और छिले बादाम का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

बादाम में कौन से विटामिन होते हैं?
बादाम में विटामिन बी6 और विटामिन ई होते हैं।

बादाम और शहद खाने से क्या फायदे हो सकते हैं?
बादाम के गुण और शहद के फायदे एक-दूसरे के गुणों को अधिक बढ़ा सकते हैं। दोनों के मिश्रण से लेख में बताए गए फायदे मिल सकते हैं।

बादाम की तासीर कैसी है?
बादाम की तासीर गर्म होती है।

क्या मैं रात में बादाम खा सकता हूं?
हां, आप रात के समय बादाम खा सकते हैं। कुछ शोध से पता चलता है कि बादाम जैसे कई अन्य प्रकार के नट्स से मेलाटोनिन (तेजी से सोने में मदद करने वाले एक तरह का हार्मोन) को बढ़ावा मिलता है। इससे नींद की गुणवत्ता अच्छी हो सकता है।

अगर बिना भिगोए बादाम खा लें, तो क्या होगा?
बिना भिगोए हुए बादाम खाने से भी लेख में बताए गए फायदे ही होंगे, लेकिन बादाम को भिगोकर खाने से ये आसानी से डाइजेस्ट हो जाते हैं।

क्या हम बादाम को खाली पेट खा सकते हैं?
जैसा कि बादाम में कई पोषक तत्व होते हैं। ऐसे में खाली पेट बादाम खाने पर इसके पोषक तत्वों के अवशोषण को बढ़ावा मिल सकता है। इसे देखते हुए खाली पेट बादाम खाना भी सुरक्षित और लाभकारी माना जा सकता है।

क्या हम बादाम खाने के बाद पानी पी सकते हैं?
कई बार ऐसे दावे किए जाते हैं कि भोजन करने या ड्राई फ्रूट्स खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए।

एक दिन में कितने बादाम खाने चाहिए?
एक दिन में बादाम खाने की मात्रा लगभग 56 ग्राम यानी 8 से 10 बादाम खाना लाभकारी हो सकता है।

छिलके सहित बादाम खाने के फायदे अधिक हैं या बिना छिलके के बादाम खाने के अधिक फायदे हैं?
वैसे तो छिलके सहित बादाम खाने के फायदे और छिलके रहित दोनों तरह के भीगे हुए बादाम खाना पाचन स्वास्थ्य और अन्य चीजों के लिए लाभकारी हो सकता है। आप अपनी पसंद के हिसाब से भीगे हुए बादाम का छिलका हटाकर या छिलके के साथ उसे खा सकते हैं।

क्या बादाम जहरीले होते हैं?
बादाम दो तरह के होते हैं मीठे और कड़वे बादाम। कड़वे बादाम में हीलिंग गुण होते हैं जैसे कि इसका उपयोग कड़वे बादाम के तेल में किया जाता है जो सर्जरी के दौरान प्राकृतिक संवेदनाहारी के रूप में कार्य करता है। लेकिन कड़वे बादाम बहुत खतरनाक होते हैं क्योंकि इसमें ग्लाइकोसाइड एमिग्डालिन होता है जिसका सेवन करने पर यह जहरीला तत्व होता है। जब कड़वे बादाम को गर्म किया जाता है, तो वे हाइड्रोजन साइनाइड उत्पन्न करते हैं जो एक त्वरित हत्यारा है।

Note — बादाम हम सभी के लिए कई लाभकारी उद्देश्यों की पूर्ति करते हैं और परिणामस्वरूप, इनका सेवन सीमा के भीतर ही करना चाहिए। अत्यधिक सेवन घातक हो सकता है। यदि आप एक स्वस्थ जीवन शैली की तलाश में हैं, तो इसे अपने नियमित आहार में शामिल करना न भूलें। इसलिए स्वस्थ रहें और फिट रहें।

हमारा अंतिम शब्द

तो दोस्तों आसा करता हु की आपको हमारे दिया गया जानकारी (30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi) आपको पसंद आया होगा. अगर आपको पसंद आये तो हमें नीच Comments करके बताये और अपने दोस्तों के साथ और Social Media Platforms पर Share जरूर करे. धन्यवाद!

1 thought on “30+ बादाम खानेके फायदे – Benefits of Almond in Hindi”

Leave a Comment