इंदौर की जनसंख्या कितनी है – Indore Ki Jansankhya Kitni Hai

इंदौर की जनसंख्या कितनी है – Indore Ki Jansankhya Kitni Hai : नमस्कार दोस्तों, आपको स्वागत है हमारे इस Blog पर, जहापर आज हम आपको बताएँगे “इंदौर की जनसंख्या कितनी है – Indore Ki Jansankhya Kitni Hai”। इंदौर भारत के मध्य भाग का राज्य मध्यप्रदेश के वाणिज्यिक राजधानी है। इंदौर समुद्र तल से 553 मीटर की ऊँचाई पर मालवा पठार पर, दो छोटे नालों (छोटी नदी का रूप) सरस्वती और खान के तट पर स्थित है । यह छोटी नदियां शहर के केंद्र में मिलती हैं, जहां संगमनाथ या इंद्रेश्वर का 18 वीं सदी का एक छोटा मंदिर मौजूद है।इंदौर का नाम इसी देवता के नाम पर आधारित है।

इंदौर (Indore) शहर भारत के व्यावसायिक केंद्र के साथ-साथ पूरे देश में शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी के रूप में जाना जाता है। इंदौर भारत के मध्य प्रदेश राज्य का सबसे अधिक आबादी वाला शहर भी है। शहर अपने लंबे इतिहास में बढ़ रहा है और जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक, यह धीमा होने का कोई संकेत नहीं दिखाता है। इस Article पर हम आपको बताएँगे – इंदौर की जनसंख्या कितनी है – Indore Ki Jansankhya Kitni Hai.

इंदौर कहाँ पर स्थित है

मध्य प्रदेश की वाणिज्यिक राजधानी इंदौर शहर, राज्य का सबसे बड़ा शहर है। इंदौर शहर मालवा पठार का एक प्रमुख हिस्सा है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल और इंदौर के बीच 190 किलोमीटर की दूरी है। इंदौर शहर समुद्र की सतह से 1,814 फिट या 553 मीटर ऊँचाई पर स्थित है।इस शहर के निर्देशांक 22° 25′ उत्तरी अक्षांश तथा 75° 32′ पूर्वी अक्षांश के रूप में है। इसकी निकटस्थ स्थित प्रमुख नदियों में खान क्हान और सरस्वती नदियाँ शामिल हैं, जो शिप्रा नदी की शाखाएं हैं। यह शहर पश्चिमी मध्य प्रदेश का एक हिस्सा है। इस शहर में ग्रीष्म, मानसून और शीतकालीन तीनों मौसम पाये जाते हैं।

इंदौर शहर विशेष रूप से भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) और भारतीय प्रबंधन संस्थान (आईआईएम) के लिए काफी प्रसिद्ध है। इस शहर को मिनी मुंबई के नाम से भी बुलाया जाता है, क्योंकि यह शहर पहले मराठा साम्राज्य का मुख्य केंद्र था और इस शहर में मराठी बोलने वाले लोगों की संख्या भी काफी तादात में पाई जाती है। इंदौर शहर शानदार बाजारों, मनोरंजन और विदेशी व्यंजनों के लिए काफी प्रसिद्ध है। सॉफ्टवेयर, ऑटोमोबाइल और फार्मास्यूटिकल्स आदि इस शहर के कुछ प्रमुख उद्योग हैं।

वक नजर में MP के वाणिज्यिक राजधानी इंदौर शहर

• क्षेत्र / स्थान — इंदौर (Indore)
• देश — भारत
• राज्य — मध्यप्रदेश (MP)
• मुख्यालय — इंदौर
• निर्देशांक — 22°43′0″N 75°50′50″E / 22.71667°N 75.84722°E
• क्षेत्रफल — 3898 वर्ग. किमी. (1,505 वर्ग मील)
• ऊँचाई — 553 मीटर
• लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र — 2, इन्दौर, धार
• विधानसभा सीटें — 9
• जनपद ब्लॉक — 4
• तहसील — 10
• गाँव — 676
• नगर निगम — 1
• नगर परिषद — 8
• पुलिस थाना — 49
• आधिकारिक भाषा — हिंदी
• जनसंख्या — 32,76,697 (2011)
• घनत्व — 5,100 / बर्गकिमी (13,000 / वर्गमील)
• महानगर की जनसंख्या — 21,67,447
• पुरुष — 16,99,627
• महिला — 15,77,070
• साक्षरता — 82.3%
• लिंग अनुपात — 924 / 1000
• वेबसाइट — Indore.nic .in

इंदौर की जनसंख्या कितनी है – Indore Ki Jansankhya Kitni Hai

इंदौर की जनसंख्या कितनी है

इंदौर मध्य प्रदेश में सबसे अधिक आबादी वाला शहर है। मध्य भारत में इंदौर सबसे बड़ा नगर है। भारत की 2011 की जनगणना के अनुसार, इंदौर शहर (नगर निगम के तहत क्षेत्र) की जनसंख्या 19,64,086 है। इंदौर महानगर की आबादी (शहरी व पड़ोसी क्षेत्रों को मिलाकर) 21,67,447 है। 2020 में, शहर की जनसंख्या घनत्व 9718/प्रति वर्ग किमी थी, जोकि मध्य प्रदेश के 1,00,000 से अधिक आबादी वाले सभी नगर पालिकाओं से सबसे घनी हैं। इंदौर शहर में रहने वाले लोगों में लगभग 52% पुरुष और 48% महिलाएं हैं। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, इंदौर शहर 87.38% की एक औसत साक्षरता दर 74% के राष्ट्रीय औसत से अधिक है। पुरुष साक्षरता 91.84% थी, और महिला साक्षरता 82.55% था।

इंदौर की जिला प्रशासन 2009 इंदौर में लिया, जनसंख्या का 12.72% उम्र के 6 वर्ष से कम (प्रति 2011 की जनगणना के रूप में) है। जनसंख्या की औसत वार्षिक वृद्धि दर 2011 की जनगणना रिपोर्ट के अनुसार। हिन्दी इंदौर शहर की आधिकारिक भाषा है, और जनसंख्या के बहुमत द्वारा बोली जाती हैं। मराठा सम्राज्य के प्रभुत्व के कारण यहाँ मराठी बोलने वाले लोगो की भी काफ़ी संख्या हैं। प्रदेश के एक मुख्य शहर होने के साथ ही यहाँ विभिन्न राज्यो से आकर बसे पर्याप्त संख्या में लोगो के साथ अन्य भाषाएँ जैसे बुंदेली, मालवी, गुजराती, सिंधी, बंगाली, छत्तीसगढ़ी,उर्दू भी बोली जाती हैं।

इंदौर में किस धर्म के लोग ज्यादा रहते है

आधिकारिक जनगणना 2011 और इंदौर जिले के जनसंख्या डेटा 2022 के अनुसार, इंदौर राज्य में हिंदू बहुसंख्यक हैं। 2011 की जनगणना के अनुसार इंदौर जिले की कुल जनसंख्या 3,276,697 है। हिंदू धर्म इंदौर की आबादी का 83.26% है। इंदौर राज्य में मुस्लिम अल्पसंख्यक हैं जो कुल आबादी का 12.67% है।

• जनसंख्या — 3,276,697
• हिंदू — 83.26%
• मुसलमान — 12.67%
• ईसाई — 0.57%
• सिख — 0.78%
• बौद्ध — 0.35%
• जैन — 2.19%
• अन्य — 0.02%
• उपलब्ध नहीं है — 0.16%

इंदौर नाम का उत्पत्ति कहाँ सें हुआ

उज्जैन पर विजय पाने की राह में, राजा इंद्र सिंह ने काह्न नदी (आधुनिक नाम कान(Kahn) और विकृत नाम खान) के निकट एक शिविर रखी और वे इस जगह की प्राकृतिक हरियाली से बहुत प्रभावित हुए।

इस प्रकार वह नदियों काह्न और सरस्वती के संगम की जगह पर एक शिवलिंग रखी और 1732 ई. में इन्द्रेश्वर मंदिर का निर्माण प्रारम्भ किया। साथ ही इंद्रपुर की स्थापना की गई। कई वर्षों बाद जब पेशवा बाजीराव-१ द्वारा, मराठा शासन के तहत, इसे मराठा सूबेदार ‘मल्हार राव होलकर’ को दिया गया था तब से इसका नाम इन्दूर पड़ा। ब्रिटिश राज के दौरान यह नाम अपने वर्तमान रूप इंदौर में बदल गया था।

इंदौर के लोगों के कला संस्कृति कैसे है

इंदौर का मुख्य धर्म हिंदू धर्म है, लेकिन अन्य प्रसिद्ध धर्मों जैसे इस्लाम, जैन धर्म, बौद्ध धर्म, ईसाई धर्म आदि को भी समान महत्व दिया जाता है। इंदौर के लोगों को “इंडोरीज़” के रूप में संबोधित किया जाता है। वे स्वभाव से बहुत ही मिलनसार, विनम्र, मृदु हृदय और मिलनसार होते हैं। वे काफी बिजनेस-माइंडेड हैं और मूल रूप से आपसी बातचीत के लिए अंग्रेजी, गुजराती, हिंदी और सिंधी का इस्तेमाल करते हैं। इंदौर के लोगों के बीच पूर्ण सद्भाव देखा जा सकता था।

इंदौर में स्थानीय त्योहारों में, गणगौर, तीज, रंगपंचमी, गुड़ी पड़वा, गणेश चतुर्थी, नवरात्रि, दीपावली, दशहरा जैसे त्योहार शामिल हो सकते हैं और भारत के लगभग सभी प्रमुख त्योहार यहां बड़े उत्साह और उत्साह के साथ मनाए जाते हैं।

इंदौर का कला पहलू भी बहुत मजबूत है क्योंकि यह टाई एंड डाई टेक्सटाइल, बाटिक, हैंड-ब्लॉक प्रिंटिंग और बहुत कुछ के बड़े पैमाने पर कारोबार करता है।

इंदौर में किस भाषा बोलिजाति है

इंदौर को आमतौर पर बहुभाषी शहर के रूप में जाना जाता है और यहां लोग विभिन्न प्रमुख भाषाओं जैसे हिंदी, बंगाली, अंग्रेजी, गुजराती, उर्दू, सिंधी, मराठी और बहुत कुछ का उपयोग करते हुए देख सकते हैं। इनके अलावा, मालवी, बुंदेलखानी, छत्तीसगढ़ आदि स्थानीय बोलियों को भी इस क्षेत्र में देखा जा सकता है।

इंदौर के अर्थव्यवस्था कैसे है

मध्य भारत की वाणिज्यिक राजधानी, इंदौर की अर्थव्यवस्था में किसी भी तरह के बदलाव का भारत की बड़ी आर्थिक स्थिति पर सीधा प्रभाव पड़ता है। इंदौर की अर्थव्यवस्था सभी दिशाओं में विस्तार कर रही है और इसमें पारंपरिक कृषि उद्योग और आधुनिक कॉर्पोरेट और आईटी कंपनियां दोनों शामिल हैं। मध्य प्रदेश के सबसे व्यस्त शहरों में से एक, इंदौर राज्य का आर्थिक तंत्रिका केंद्र है। इंदौर की अर्थव्यवस्था के फलने-फूलने के साथ, पेशेवरों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए इंदौर में कई प्रबंधन और इंजीनियरिंग स्कूल खोले गए हैं।

इंदौर की अर्थव्यवस्था का एक प्रमुख घटक, इंदौर के उद्योग राजस्व में काफी मात्रा में योगदान करते हैं। यह शहर मध्य प्रदेश राज्य के एक प्रमुख औद्योगिक केंद्र के रूप में उभरा है। इंदौर के पास पीथमपुर भारत में वाहन और ऑटोमोबाइल उद्योगों के सबसे बड़े केंद्रों में से एक है। यह एक प्रसिद्ध औद्योगिक संपदा है जिसे ‘भारत का डेट्रायट’ कहा जाता है।

इंदौर में ऑटोमोबाइल उन कई उद्योगों में से एक है जो इंदौर की अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। वास्तव में, यह फलते-फूलते व्यवसाय हैं जिनकी सफलता और समृद्धि का श्रेय इंदौर के लोकप्रिय उपनाम, मध्य प्रदेश की व्यापारिक राजधानी को दिया जा सकता है।

इंदौर का इतिहास – History of Indore in Hindi

इंदौर के इतिहास से पता चलता है कि शहर के संस्थापकों के पूर्वज मालवा के वंशानुगत जमींदार और स्वदेशी भूस्वामी थे। इन जमींदारों के परिवारों ने शानदार जीवन व्यतीत किया। उन्होंने होल्कर के आगमन के बाद भी एक हाथी, निशान, डंका और गाडी सहित रॉयल्टी की अपनी संपत्ति को बनाए रखा। उन्होंने दशहरा (शमी पूजन) की पहली पूजा करने का अधिकार भी बरकरार रखा। मुगल शासन के दौरान, परिवारों को सम्राट औरंगज़ेब, आलमगीर और फ़ारुक्शायार ने अपने जागीर के अधिकारों की पुष्टि करते हुए, सनद दी।

मध्य प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्र पर स्थित इंदौर, राज्य के सबसे महत्वपूर्ण वाणिज्यिक केंद्रों में से एक है। इंदौर का समृद्ध कालानुक्रमिक इतिहास गौर करने लायक है। योर के दिनों में भी यह एक महत्वपूर्ण व्यापारिक केंद्र था। लेकिन आज कॉर्पोरेट फर्मों और संस्थानों के प्रवेश के साथ, इसने देश के वाणिज्यिक क्षेत्र में एक बड़ा नाम कमाया है। जैसे ही कहानी आगे बढ़ती है, होलकर कबीले के मल्हारो होल्कर ने 1733 में मालवा की विजय में अपनी लूट के हिस्से के रूप में इंदौर को प्राप्त किया। उनके वंशज, जिन्होंने मराठा संघ के मुख्य भाग का गठन किया, पेशवाओं और सिंधियों के साथ संघर्ष में आए और जारी रखा गोर की लड़ाई। ईस्ट इंडिया कंपनी के आगमन के साथ इंदौर के इतिहास में एक तीव्र मोड़ आया।

इंदौर के होलकरों ने 1803 में अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई में भाग लिया था। उनकी महिमा धूल से चकित हो गई थी जब वे अंततः 1817- 1818 में तीसरे एंग्लो मराठा युद्ध में मारे गए थे। होलकर राजवंश को हार का सामना करना पड़ा और एक बड़ा हिस्सा छोड़ना पड़ा। उनके अधीन प्रदेशों का। मामले तब चरम पर आ गए जब अंग्रेजी ने उनके उत्तराधिकार में हस्तक्षेप करना शुरू कर दिया। उत्तराधिकारियों में से दो रहस्यमय परिस्थितियों में बच गए। इंदौर का इतिहास भारत की स्वतंत्रता तक दिनों के अनुसार और गहरा होता गया जब 1947 में भारत के प्रभुत्व में राज्य आया।

इंदौर की प्रसिद्ध पर्यटन स्थल

इंदौर में घूमने के लिए हर तरह के लोगो के लिए प्लेस मौजूद है चाहे ऐतिहासिक धरोहर हो या फिर प्राकृतिक झरने , झील , नदिया , और धार्मिक स्थल हो तो चलिए जानते है आखिर वो कौन सी जगह है जो पर्यटकों को अपनी तरफ खींच लती है –

• आर्टिफिसियल बर्फीले पहाड़ (Snow City Indore)
• थीम पार्क इंदौर (The Grand Machal)
• Tornado Water Park Indore
• पिपलियापाला रीजनल पार्क
• चौकी ढाणी इंदौर
• जानापाव कुटी
• चोरल डैम रिसोर्ट
• सींचा आइलैंड इंदौर (Simcha Island Indore)
• गुलावत कमल झील (Gulavat Lotus Vaily)
• सीतला माता झरना
• पाताल पानी जलप्रपात (Patal Pani Waterfall Indore)
• मोहादि वाटरफॉल्स
• चिड़िया घर इंदौर
• तिंछा वॉटरफॉल
• छप्पन स्ट्रीट फ़ूड हब
• सराफा बाजार
• कृष्णा बायीं होल्कर छतरी
• राजबाड़ा होल्कर
• खजराना मंदिर
• इस्कॉन मंदिर
• अन्नपूर्णा मंदिर
• स्वामी नारायण टेम्पल
• कांच मंदिर

FAQs

पिछले पाँच वर्षों से भारत के सबसे स्वच्छ नगर का ख़िताब किसे प्राप्त है?
पिछले पाँच वर्षों से इंदौर को भारत के सबसे स्वच्छ नगर का ख़िताब प्राप्त है।

इंदौर में कौन-कौन से प्रसिद्ध मंदिर हैं?
इंदौर खजराना गणेश मंदिर,कांच मंदिर,गीता भवन,बड़ा गणपति मंदिर हैं।

इंदौर में कौन-कौन से पर्यटन स्थल हैं?
इंदौर में इंदौर व्हाइट चर्च,कमला नेहरु चिड़ियाघर,रालामंडल वन्यजीव अभयारण्य,इंदौर केंद्रीय संग्रहालय,लाल बाग पैलेस,राजवाड़ा पैलेस,सराफा बाजार,पिपलियाना क्षेत्रीय पार्क,पातालपानी वाटरफाल और गोम्मटगिरी पहाड़ी जैसे मुख्य पर्यटन स्थल हैं।

अर्थव्यवस्था के अनुसार इंदौर किस प्रकार का शहर है?
अर्थव्यवस्था के अनुसार इंदौर सामान और सेवाओं के लिए एक वाणिज्यिक केंद्र है।

इंदौर का कौन सा व्यंजन बहुत प्रसिद्ध है?
इंदौर का पोहा पूरे भारत में बहुत प्रसिद्ध है । यहाँ पर पोहा के साथ जलेबी खाने का प्रचलन भी है।

भारत का एकमात्र कौन सा शहर है जहाँ भारतीय प्रबंधन संस्थान और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दोनों उपस्थित हैं?
इंदौर भारत का एकमात्र शहर है जहाँ भारतीय प्रबंधन संस्थान और भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दोनों उपस्थित हैं।

इंदौर की जनसँख्या कितनी है?
2011 के सेंसेस के अनुसार इंदौर की जनसँख्या 21,70,295 है।

इंदौर कितने क्षेत्रफल में फैला हुआ है?
इंदौर 3898 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है।

इंदौर में कौन सी भाषा बोली जाती है?
इंदौर में मुख्य रूप से हिंदी भाषा बोली जाती है,पर इनके हिंदी बोलने का तरीका थोडा सा अलग होता है जैसे आरियाऊ,खारियाऊ,जारियाऊ जैसे शब्दों का प्रयोग किया जाता है।

मध्यप्रदेश का कौन सा शहर उसकी वाणिज्यिक राजधानी कहलाती है?
मध्यप्रदेश का इंदौर शहर उसकी वाणिज्यिक राजधानी कहलाती है।

1950 से 1956 तक कौन सा शहर मध्य भारत की राजधानी रहा?
1950 से 1956 तक इंदौर शहर मध्य भारत की राजधानी रहा।

जनसँख्या की दृष्टि से मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा शहर कौन सा है?
जनसँख्या की दृष्टि से मध्यप्रदेश का सबसे बड़ा शहर इंदौर है।

भारत के आजाद होने से पूर्व इंदौर किस रियासत की राजधानी था?
भारत के आजाद होने से पूर्व इंदौर इंदौर रियासत की राजधानी था।

भारत के स्वतन्त्र होने तक इंदौर पर किस वंश का शासनकाल रहा?
भारत के स्वतन्त्र होने तक इंदौर पर होलकर वंश का शासनकाल रहा।

इंदौर शहर में राजवाड़ा में राजभवन किसका है?
इंदौर शहर में राजवाड़ा में राजभवन होलकर वंश का है । यह होलकर वंश के शासकों की ऐतिहासिक हवेली थी।

इंदौर का नाम किस देवता पर आधारित है?
इंदौर का नाम इन्द्रेश्वर देवता के नाम पर आधारित है।

इंदौर का प्राचीन नाम क्या है?
इंदौर का प्राचीन नाम इंद्रपुर था । जिसे 1741 में मराठा शासकों ने इंदूर कर दिया था । इसके बाद ब्रिटिशों के शासनकाल में यह इंदौर हो गया।

इंदौर कहाँ स्थित है?
इंदौर मालवा के पठार के दक्षिणी किनारे पर स्थित एक शहर है । यह मध्य प्रदेश राज्य के अंतर्गत आता है।

इंदौर किन दो नदियों के तट पर स्थित है?
इंदौर क्षिप्रा नदी की सहायक दो छोटी नदियों सरस्वती और खान के तट पर स्थित है।

इंदौर कितनी ऊँचाई पर स्थित है?
इंदौर समुद्रतल से 553 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।

हमारा अंतिम शब्द

तो दोस्तों आसा करता हु की आपको हमारे दिया गया जानकारी (इंदौर की जनसंख्या कितनी है – Indore Ki Jansankhya Kitni Hai) आपको पसंद आया होगा. अगर आपको पसंद आये तो हमें नीच Comments करके बताये और अपने दोस्तों के साथ और Social Media Platforms पर Share जरूर करे. धन्यवाद!

1 thought on “इंदौर की जनसंख्या कितनी है – Indore Ki Jansankhya Kitni Hai”

Leave a Comment