25+ पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde

25+ पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde : नमस्कार दोस्तों, आपको स्वागत है हमारे इस Blog पर, जहापर आज हम आपको बताएँगे “25+ पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde. पपीता भी एक ऐसा ही फल है जो स्वाद और पोषण दोनों में सबसे ऊपर है। पीले-नारंगी रंग का यह फल बच्चों और बूढ़ों को सबसे ज्यादा पसंद आता है क्योंकि यह आसानी से खाया जा सकता है। एक्सपर्ट्स मानते हैं कि कुछ फलों को अगर सुबह खाली पेट खाया जाए, तो शरीर को ज्यादा लाभ हो सकते हैं और पपीता के मामले में यह बात सौ प्रतिशत ठीक है।

पपीता एक ऐसा फल है जो हर मौसम में आसानी से आपको मार्केट में मिल जाएगा. पपीता को सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है. पपीते (Papaya Health Benefits) में विटामिन ए, विटामिन सी, नियासिन, मैग्नीशियम, कैरोटीन, फाइबर, फोलेट, पोटैशियम, कॉपर, कैल्शियम और कई तरह के एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। पपीता (Papita Ke Fayde) को आयुर्वेद में एक औषधी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है. पपीता एक ऐसा फल है जिसे कच्चा, पका, इसके पत्ते आदि का भी इस्तेमाल आयुर्वेदिक उपचार के लिए किया जाता है. पपीते को डाइट में शामिल कर आप वजन को कंट्रोल (Weight Loss)कर सकते हैं, क्योंकि पपीते में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है, जो पेट को लंबे समय तक भरा हुआ महसूस कराने में मदद कर सकता है. पपीते के सेवन से इम्यूनिटी को मजबूत बनाया जा सकता है। आइए जानते हैं — 25+ पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde.

Table of Contents

25+ पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde

पपीता खाने के फायदे

पीता एक ऐसा फल है, जो पोषण से भरपूर तो है ही, इसमें बहुत से औषधीय गुण भी हैं। इन गुणों के कारण इसकी अपनी खास पहचान है। चाहे कच्चा पपीता हो या पका हुआ, दोनों ही स्वास्थ्य की दृष्टि से फायदेमंद है। पपीते में विटामिन ए, विटामिन सी, नियासिन, मैग्नीशियम, कैरोटीन, फाइबर, फोलेट, पोटैशियम, कॉपर, कैल्शियम और कई तरह के एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं। पपीते में कुछ मात्रा में प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट भी होते हैं। एक छोटे पपीते में लगभग 60 कैलोरी होती है। आइए जानते हैं — 25+ पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde.

25+ पपीता खाने के फायदे (01 – 05)

1. लीवर-प्लीहा से जुड़े रोगों में लाभकारी है पपीता

अगर कोई लीवर और स्प्लीन संबंधी बीमारियों से परेशान है तो पपीता का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है। पपीता के फलों का सेवन करने से रक्तार्श, यकृत् तथा प्लीहा-विकारों का शमन होता है।

2. शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर

NCBI (नेशनल सेंटर फॉर बायो टेक्नोलॉजी इंफार्मेशन) द्वारा प्रकाशित एक शोध के अनुसार, पपीते के अर्क और अन्य भागों में मौजूद पॉलीफेनोल्स में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। ये ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करके स्वास्थ्य को बनाए रखने और बीमारियों को रोकने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा, यह शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल्स को खत्म कर सकते हैं। यही नहीं, एंटीऑक्सीडेंट को गेस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट (पाचन) की समस्याओं को दूर करने के लिए भी जाना जाता है। साथ ही इसमें कैरोटीनॉयड भी होता है, जो कि एक प्रकार का एंटीऑक्सीडेंट है।

3. यूरिन इंफेक्शन की समस्या दूर करे पपीता

महिलाओं में मूत्र संक्रमण या यूरिन इंफेक्शन होना एक आम समस्या है। अधिकतर महिलाएं इस समस्या से परेशान रहती हैं। अगर आप भी यूरिन इंफेक्शन से परेशान हैं, तो पपीता (Papaya in hindi) का सेवन करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। पपीते में मौजूद तत्व इंफेक्शन की समस्या को दूर करते हैं, बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकते हैं। इसलिए महिलाओं को अपनी डाइट में पपीता जरूर शामिल करना चाहिए।

4. एंटीकैंसर गुण

पपीता के औषधीय गुण कैंसर से बचाव कर सकते हैं। कई संस्थाओं ने इस विषय पर शोध किया है। एक रिसर्च पेपर के अनुसार, पपीते में पेक्टिन कंपाउंड होता है, जो एंटीकैंसर प्रभाव दिखा सकता। यह कंपाउंड कैंसर की कोशिकाओं को पनपने से रोकने में फायदेमंद हो सकता है। इसके अलावा, यह कैंसर के लक्षणों को कम करने में भी लाभदायक माना जाता है। ध्यान रहे कि अगर किसी को कैंसर है, तो उसे मेडिकल चेकअप करवा कर उचित इलाज कराना जरूरी है। कैंसर जैसी गंभीर बीमारी होने पर महज पपीते पर निर्भर नही रहा जा सकता है।

5. स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए फायदेमंद पपीता

कई महिलाओं की शिकायत होती है कि उनके बच्चे के लिए दूध पर्याप्त नहीं हो पाता है। ऐसे में पपीते का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता है। पपीता खाने से (can papaya increase milk supply) महिलाओं में दूध का उत्पादन बढ़ता है। इससे शिशु के लिए दूध पर्याप्त होता है। स्तनपान के दौरान महिलाएं पपीते का सेवन कर सकती हैं, लेकिन गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए।

25+ पपीता खाने के फायदे (05 – 10)

6. स्वस्थ हृदय के लिए

चूहों पर पपीते के असर के संबंध में एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक शोध में पाया गया कि पपीते में कार्डियोटॉक्सिसिटी के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने वाला प्रभाव होता है। इस कार्डियोटॉक्सिसिटी के कारण हृदय की मांसपेशियों को नुकसान होता है और हृदय शरीर में रक्त को सही प्रकार से पंप करने में सक्षम नहीं होता है। साथ ही पपीते के अर्क में कार्डियोप्रोटेक्टिव और एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं। ये दोनों कार्डियोटॉक्सिसिटी की स्थिति को दूर करने और हृदय को स्वास्थ बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। इसी वजह से पपीता खाने के फायदे में हृदय स्वास्थ्य को भी गिना जाता है।

7. पीरियड्स से होने वाली समस्याएं दूर करने पपीता

आजकल अधिकतर महिलाएं पीरियड्स की समस्या का सामना कर रहे हैं। पीरियड्स के दौरान दर्द, अनियमित पीरियड्स और ऐंठन महिलाओं में होने वाली सामान्य समस्याएं बन गई है। अगर आपको भी पीरियड्स से जुड़ी कोई समस्या (papaya benefits for periods in hindi) है, तो आप अपनी डाइट में पपीता शामिल कर सकती हैं। इससे अनियमित पीरियड्स की समस्या दूर होती है, साथ ही पीरियड्स में होने वाले दर्द में भी आराम मिलता है।

8. सूजन को करे कम पपीता

गंभीर सूजन आगे चलकर कैंसर, मधुमेह और एथेरोस्क्लेरोसिस (धमनियों की बीमारी) जैसे विभिन्न रोग का कारण बन सकती है। ऐसे में सूजन की समस्या को दूर करने में पपीता खाने से लाभ हो सकते हैं। एक शोध में पाया गया है कि पपीते के अर्क में एंटीइंफ्लेमेटरी प्रभाव होता है, जो गंभीर सूजन को दूर कर सकता है। साथ ही गंभीर सूजन के कारण होने वाले रोगों के लक्षण भी इससे कम हो सकते हैं।

9. स्किन के लिए फायदेमंद पपीता

महिलाएं अपनी स्किन को जवां बनाए रखने के लिए कई उपाय आजमाती हैं, लेकिन आप चाहें तो पपीते के सेवन से भी अपनी स्किन को हेल्दी (papaya benefits for skin in hindi) बना सकती हैं। पपीता स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है। पपीता मुहांसों, पिग्मेंटेशन की समस्या को कम करता है। आप चाहें तो पपीते का फेस पैक भी यूज कर सकती हैं।

10. पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद

पपीते का उपयोग पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए उपचार के रूप में किया जाता है। एक शोध के अनुसार, पपीते में हाइमोपैपेन और पैपेन (Papain) जैसे कंपाउंड होते हैं। इन्हें पाचन संबंधी विकारों को दूर करने के लिए जाना जाता है। पैपेन से प्रोटीन को तेजी से पचाने में मदद मिल सकती है। साथ ही पपीते में एंटी अल्सर प्रभाव होता है, जो अल्सर को कम कर सकता है। यही नहीं, पपीते के सेवन से पेट फूलने की समस्या, अपच और कब्ज की समस्या भी दूर हो सकती है। दरअसल, पपीते में मौजूद फाइबर को कब्ज के लिए अच्छा माना जाता है। नूट्रिशनिस्ट नेहा श्रीवास्तव के अनुसार, यह स्वाभाविक रूप से शरीर को डिटॉक्स कर सकता है। साथ ही लिवर और किडनी को स्वस्थ रखता है।

25+ पपीता खाने के फायदे (11 – 15)

11. दाद-खुजली से दिलाये आराम पपीता

आजकल के प्रदूषण भरे वातावरण में दाद-खुजली रोग होने का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। हर कोई किसी न किसी त्वचा संबंधी परेशानी से ग्रस्त हैं। पपीता इन सब परेशानियों को कम करने में मदद करता है। पपीता के बीजों को पीसकर, उसमें ग्लिसरीन मिलाकर दाद पर लगाने से दाद तथा खुजली में लाभ होता है। इसके अलावा इसके फलों से प्राप्त आक्षीर को लगाने से दाद तथा खुजली की परेशानी कम होती है।

12. प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए

छोटी-छोटी रक्त कोशिकाओं को प्लेटलेट्स कहा जाता है। ये शरीर में रक्तस्राव को रोकने के लिए खून के थक्के बनाने में मदद करते हैं। इसका काउंट बढ़ाने में पपीता मदद कर सकता है। इस विषय पर हुए शोध में पाया गया कि पपीता, उसके अर्क और अन्य भागों में कारापाइन, मैलिक एसिड, क्विनिक एसिड और क्लिटोरिन जैसे घटक होते हैं। ये सभी घटक प्लेटलेट्स बनाने की क्षमता को बढ़ा सकते हैं। डेंगू होने पर प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए घरेलू उपचार के तौर पर पपीता और पपीते के पत्तों का इस्तेमाल भी किया जाता है। डेंगू के मामले में ज्यादातर फायदे पपीते के पत्तियों के ही देखे गए हैं।

13. बिच्छू के काटने पर पपीते का प्रयोग

बिच्छू के काटने पर उसके असर को कम करने में पपीता मदद करता है। पपीते के कच्चे फल से प्राप्त आक्षीर या दूध को दंश-स्थान पर लगाने से वृश्चिक या बिच्छू दंशजन्य विषाक्त प्रभाव कम होता है।

14. प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने के लिए

प्रतिरक्षा प्रणाली के कमजोर होने के कारण कई प्रकार की बीमारियां और संक्रमण होने का खतरा रहता है। ऐसे में प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनाने में पपीता की मदद ली जा सकती है। एक शोध के अनुसार, पपीते के अर्क में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट और इम्यूनोस्टिमुलेंट (Immunostimulant) गुण प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ा सकते हैं। वहीं, पपीते में विटामिन-सी भी होता है, जो रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने में उपयोगी हो सकता है। इसके अलावा, विटामिन ए, विटामिन सी और फाइबर से भरपूर पपीता ऐज रिलेटेड मैकुलर डिजनरेशन यानी उम्र की वजह से आंखों की रोशनी कम होने के जोखिम को कम करने में भी सहायक हो सकता है।

15. मुँह के छालों को ठीक करने में फायदेमंद पपीता

कई बार किसी दवाई के एलर्जी के कारण, किसी बीमारी के साइड इफेक्ट के वजह से या शरीर में किसी विटामिन की कमी से मुँह में छाले या घाव होने लगते हैं। इस परेशानी से राहत पाने के लिए पपीते का इस्तेमाल ऐसे करने पर आराम मिलता है। पपीते के दूध या आक्षीर को जीभ पर लगाने से जीभ पर होने वाला घाव जल्दी भर जाते हैं।

25+ पपीता खाने के फायदे (16 – 20)

16. घाव भरने में मददगार

पपीता का लाभ घाव भरने के लिए भी देखे जा सकते हैं। इसी संबंध में मधुमेह से ग्रस्त चूहों पर किए गए शोध में पाया गया कि पपीते के अर्क में वुंड हीलिंग गतिविधि होती है। शोध के अनुसार, इससे मधुमेह से ग्रस्त चूहों के घाव भरने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा, प्रारंभिक शोध से पता चलता है कि सर्जिकल घाव के किनारों पर पपीते के फल की ड्रेसिंग करने से घाव जल्दी भर सकता है।

17. दांत दर्द में लाभकारी पपीता

अगर दांत दर्द से परेशान हैं तो पपीते का इस तरह से सेवन करने पर जल्दी आराम मिलता है। पपीते से प्राप्त दूध को रूई में लपेटकर लगाने से दांत का दर्द कम होता है।

18. वजन कम करें पपीता

पपीता खाने के फायदे वजन को कम करने के लिए भी हो सकते हैं। एक मेडिकल रिसर्च की मानें, तो पपीता में एंटी-ओबेसिटी प्रभाव होता है। यह प्रभाव मोटापा को कम करने और वजन को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। इसी वजह से वजन कम करने के लिए पपीता को फायदेमंद माना जा सकता है। वहीं, कम कैलोरी और उच्च फाइबर युक्त पपीता वजन कम करने का अच्छा विकल्प हो सकता है।

19. कंठरोग से दिलाये राहत पपीता

कई बार ठंड लगने के कारण गले में दर्द या सूजन हो जाती है लेकिन पपीता से बनाये गए घरेलू उपाय का प्रयोग करने से जल्दी आराम मिलता है। पपीता से प्राप्त आक्षीर या दूध को जल में मिलाकर गरारा करने से गले के रोगों में लाभ होता है।

20. मधुमेह से राहत

पपीता के फायदे मधुमेह के रोगियों के लिए भी हो सकते हैं। दरअसल, पपीता में एंटी-डायबिटीज गुण होता है, जो रक्त शुगर को कम कर सकता है। इससे मधुमेह की समस्या में कुछ हद तक सुधार हो सकता है। साथ ही पपीता के पत्ते का अर्क में भी एंटी-डायबिटीज गुण होता है, जो मधुमेह के लिए फायदेमंद माना जाता है।

25+ पपीता खाने के फायदे (21 – 26)

21. कमजोरी दूर करने में मदद करता है पपीता

अगर लंबे बीमारी के कारण या पौष्टिकता की कमी के वजह से कमजोरी महसूस हो रही है तो पपीता का इस तरह से सेवन करने पर लाभ मिलता है। पपीता के कच्चे फलों का साग बनाकर सेवन करने से अग्निमांद्य (Dyspepsia) तथा कमजोरी में लाभ होता है।

23. डैंड्रफ को नियंत्रित करता है

पपीता डैंड्रफ की समस्या को दूर करने में भी फायदेमंद होता है। कई संस्थाओं के शोधकर्ताओं ने पाया कि पपीते में बायोफ्लेवोनोइड और एंटीऑक्सीडेंट की अच्छी मात्रा होती है। ये दोनों ही डैंड्रफ को दूर कर बालों को इससे होने वाले बुरे प्रभाव से बचा सकते हैं। एक अन्य शोध के अनुसार, जिन शैंपू और साबुन में पपीते का अर्क होता है, वो रूसी और बालों को झड़ने से रोकने में मदद कर सकते हैं।

24. दस्त रोके पपीता

अगर ज्यादा मसालेदार खाना, पैकेज़्ड फूड या बाहर का खाना खा लेने के कारण दस्त है कि रूकने का नाम ही नहीं ले रहा तो पपीता का घरेलू उपाय बहुत काम आता है। पके बीजों का सेवन चावल के साथ करने से अतिसार या दस्त में फायदा पहुँचता है। इसके अलावा कच्चे फल का साग बनाकर सेवन करने से अतिसार में लाभ होता है।

25. लकवा के लक्षणों से दिलाये राहत पपीता

लकवा होने पर जो परेशानियां होती है उससे राहत दिलाने में पपीता काम करता है। पपीता के बीजों से तेल बनाकर, छानकर मालिश करने से लकवा तथा अर्दित (मुँह का लकवा) में लाभ होता है।

26. त्वचा-विकार से दिलाये राहत पपीता

आजकल के तरह-तरह के नए-नए कॉज़्मेटिक प्रोडक्ट के दुनिया में त्वचा रोग होने का खतरा भी दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है। पपीता के द्वारा बनाये गए घरेलू उपाय चर्म या त्वचा रोगों से निजात दिलाने में मदद करते हैं।पौधे से निकलने वाले आक्षीर को सिध्म, गोखरू, अर्बुद, गाँठ तथा चर्म रोगों में लगाने से लाभ होता है।

Note : सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

पपीते इतने गुणकारी क्यूँ है

पपीते में फाइबर, कैरोटीन, विटामिन सी, ई, ए और कई अन्य मिनिरल्स होते हैं जो शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरूरी हैं. पपीते में विटामिन सी तो भरपूर होता ही है साथ ही विटामिन ए भी पर्याप्त मात्रा में होता है जो आंखों की रोशनी बढ़ाने में सहयक होता है। 1977 में लंदन के एक अस्पताल में गुर्दों के ऑपरेशन के बाद पपीते के इस्तेमाल से इन्फेक्शन को तेजी से दूर किया गया. इसके बाद इसके जादुई इस्तेमाल की वजह से तमाम लंदन के अखबारों में सुर्खियों में छापा। लोगों को पपीते की अहमियत का सही अंदाजा तब से मालूम पूरे देश में पड़ा, जब साउथ अफ्रीका में लोग पपीते का गूदा पोटली में बांधकर अल्सर और जख्मों के इलाज के लिए इस्तेमाल करते थे। ऐसा करने पर जख्मों में सुधार हो जाता था. इसलिए पपीते को सुनहरे पेड़ का सुनहरा फल कहा जाता है और इसे कुदरत का एक अनमोल तोहफा समझा जाता है।

पपीते के पौष्टिक तत्व – Nutrients Value of Papaya in Hindi

पपीता में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व होते है, —

• Water — 88.1 g
• Energy — 43 kcal
• Protein — 0.47 g
• Fat — 0.26 g
• Carbohydrate — 10.82 g
• Fiber — 1.7 g
• Sugar — 7.82 g
• Calcium — 20 mg
• Iron — 0.25 mg
• Magnesium — 21 mg
• Phosphorus — 10 mg
• Potassium — 182 mg
• Sodium — 8 mg
• Zinc — 0.08 mg
• Manganese — 0.04 mg
• Copper — 0.045 mg
• Vitamin Selenium — 0.0230.9 mg Riboflavin — 0.027 mg
• Niacin — 0.357 mg
• Vitamin-B — 60.038 mg
• Folate — 37 micrograms
• Choline — 6.1 mg
• Vitamin-A — 47 micrograms
• beta-carotene — 274 micrograms
• Vitamin-A IU — 950 IU
• Vitamin-K — 2.6 micrograms
• Fatty Acid Total Saturated — 0.081 gram
• Fatty Acid Total Monounsaturated — 0.072 gram
• Fatty Acid Total Polyunsaturated — 0.058 gram

पपीता खाने का सही समय क्या है

शाम को छह बजे के बाद कुछ फलों को खाने से बचना चाहिए क्योंकि ये पाचन क्रिया को प्रभावित कर सकते हैं. सुबह के समय फलों का सेवन उत्तम होता है. इसलिए पपीते का सेवन भी सुबह के समय करने से ज्यादा लाभ मिलता है. पपीता आपके पेट के लिए एक एक अत्यंत उपयोगी फल है और यह कम अम्लीय है, यदि आप इसे आने नाश्ते खाते हैं, तो यह आपके पाचन तंत्र के लिए अच्छा है और आपके मूड को ताजा और स्वस्थ बनाता है. पपीता खाने का सबसे अच्छा समय सुबह 5 बजे से 9 बजे के बीच माना गया है. नाश्ते में पपीता खाने से आप पूरे दिन फिट और ताजा महसूस करेंगे. सुबह खाया हुआ पपीता आपके स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त है, क्योंकि यह दिन भर आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है।

पपीता खानेके नुकसान – Side Effects of Papaya in Hindi

जहां एक ओर पपीता के गुण इसे फायदेमंद बनाते हैं, वहीं किन्हीं कारणों से पपीता के नुकसान भी देखने को मिल सकते हैं। पपीता खाने के फायदे और नुकसान इसकी मात्रा के साथ ही पपीता कितना पका है, इस पर भी निर्भर करता है। यहां हम पपीते के अनुमानित दुष्प्रभावों के बारे में बता रहे हैं।

• पपीते के लेटेक्स में पपैन नामक कंपाउंड होता है। बड़ी मात्रा में पपैन को मुंह से लेने से गले में भोजन नली को नुकसान हो सकता है।
• आपको पथरी की समस्या है तो पपीते का सेवन बहुत सीमित मात्रा में करें। विटामिन सी से भरपूर होता है पपीता और इसका अधिक मात्रा में सेवन करने से यह स्टोन की समस्या को बढ़ा सकता है। वहीं, पपीते में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट किडनी के मरीजों को भी कई बार नुकसान पहुंचा सकते हैं।
• पपीते के लेटेक्स को त्वचा पर लगाने से कुछ लोगों में गंभीर जलन और एलर्जी हो सकती है।
• अगर आप पीलिया और अस्थमा के मरीज हैं, तो आपको पपीता (Papaya)नुकसान पहुंचा सकता है, इसलिए आपको पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इसमें मौजूद पपाइन और बीटा कैरोटीन इन दोनों बीमारियों के लिए नुकसानदायक हैं।
• अधिक मात्रा में पपीता खाने से थायराइड की समस्या हो सकती है।
• हृदय रोगों के ​मरीजों के लिए भी पपीते का सेवन नुकसानदायक साबित हो सकता है। इससे हार्ट बीट स्लो हो सकती है. बीपी के मरीज हैं तो भी पपीते का सेवन सीमित मात्रा में ही करें आप।
• पपीता रक्त में मौजूद शुगर के स्तर को कम कर सकता है। सर्जरी के दौरान और बाद में पपीते का सेवन रक्त में मौजूद शुगर के स्तर को प्रभावित कर सकता है। इसी वजह से सर्जरी से 2 सप्ताह पहले पपीता का सेवन रोक देना चाहिए।
• अगर आप ज्यादा मात्रा में पपीते (Papaya) का सेवन करते हैं, तो यह आपके डाइजेशन को खराब कर सकता है. दरअसल, इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होता है और जब आप अधिक मात्रा में पपीते खाते हैं तो इससे पेट में गैस, दर्द, जलन की समस्या पैदा हो सकती है। पपीते का सेवन कब्ज को दूर तो करता है, लेकिन अधिक मात्रा में इसे खाने से ​दस्त की समस्या भी आपको लग सकती है।

किन बीमारियों में नहीं खाना चाहिए पपीता

गर्भवती महिलाओं को पपीते के अधिक सेवन से बचना चाहिए. इसमें लेटेक्स, पपैन नामक तत्व होते हैं, जो यूटरस को संकुचित कर सकते हैं. उन लोगों को भी इसका सेवन बहुत कम करना चाहिए, जिन्हें किडनी रोग, लिवर की समस्या, त्वचा से संबंधित कोई बीमारी, हाइपोथायरॉएडिज्म, किसी तरह की एलर्जी, किडनी में स्टोन है. पपीते में विटामिन सी होता है और इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट किडनी स्टोन की समस्या को बढ़ा सकता है. चूंकि, इसमें फाइबर और लैक्सेटिव अधिक होता है, ऐसे में डायरिया और ब्लोटिंग की समस्या में इसे खाने से बचें।

पपीते (Papita ke nuksan) में मौजूद फेनोलिक कम्पाउंड्स (बीटा कैरोटिन) से कुछ साइड एफेक्ट्स भी हो सकते हैं. जिन लोगों की हार्ट बीट अनियमित रहती है, उन्हें भी पपीता नहीं खाना चाहिए. यदि आपको हाइपोग्लाइसीमिया यानी लो ब्लड शुगर की समस्या है, तो पपीता खाना बंद कर दें। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें एंटी-हाइपोग्लाइसेमिक या ग्लूकोज को कम करने वाले तत्व होते हैं, जो शरीर में शुगर लेवल को और भी ज्यादा कम कर सकते हैं। डायबिटीज में हाई ब्लड शुगर लेवल होने पर पपीता खाना सही होता है।

FAQs

क्या पपीता त्वचा में निखार ला सकता है?
जी हां, पपीता त्वचा से टैन को हटाकर निखार लाने का काम कर सकता है।

क्या मैं रोज पपीता खा सकता हूं?
जी हां, कम मात्रा में रोजाना पपीता खा सकते हैं।

क्या पपीता खाने के बाद पानी पी सकते हैं?
पपीता खाने के तुरंत बाद पानी नहीं पीना चाहिए। दरअसल, बताया जाता है कि किसी भी खाद्य पदार्थ को खाने के तुरंत बाद पानी पीना हानिकारक हो सकता है। इस आधार पर कहा जा सकता है कि पपीता खाने के तुरंत बाद भी पानी नहीं पीना चाहिए। ऐसा करने से पाचन तंत्र से संबंधित समस्या हो सकती है।

क्या मैं खाली पेट पपीता खा सकता हूं?
जी हां, खाली पेट पपीता का सेवन किया जा सकता है। कहा जाता है कि इससे पाचन बेहतर होता है। वैसे कुछ लोगों का मानना है कि खाली पेट पपीता खाने के फायदे और नुकसान दोनों हो सकते हैं, इसलिए इसे लेने से पहले एक बार विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

क्या पपीता खाने से शीघ्र मल आ सकता है?
जी हां, कुछ लोगों को पपीता खाने पर शीघ्र ही मल आ सकता है। दरअसल, पपीता में फाइबर होता है। फाइबर मल को मुलायम बनाकर शीघ्र मल त्यागने में मदद कर सकता है।

क्या मैं कच्चा पपीता खा सकता हूं?
हां, कच्चा पपीता सब्जी के रूप में खा सकते हैं, लेकिन फल के रूप पपीता खा रहे हैं, तो हमेशा पका हुआ पपीता ही खाएं।

हमारा अंतिम शब्द

तो दोस्तों आसा करता हु की आपको हमारे दिया गया जानकारी (25+ पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde) आपको पसंद आया होगा। अगर आपको पसंद आये तो हमें नीच Comments करके बताये और अपने दोस्तों के साथ और Social Media Platforms पर Share जरूर करे। धन्यवाद!

1 thought on “25+ पपीता खाने के फायदे – Papita Khane Ke Fayde”

Leave a Comment