पंजाब का क्षेत्रफल कितना है – Punjab ka Kshetrafal Kitna Hai

पंजाब का क्षेत्रफल कितना है – Punjab ka Kshetrafal Kitna Hai : नमस्कार दोस्तों, आपको स्वागत है हमारे इस Blog पर, जहापर आज हम आपको बताएँगे — “पंजाब का क्षेत्रफल कितना है – Punjab ka Kshetrafal Kitna Hai”। पंजाब भारत का एक जाना माना राज्य है जो देश के उत्तर-पश्चिमी छोर पर स्थित है। यह राज्य ‘पांच नदियों के राज्य’ के तौर पर पहचाना जाता है। ये पांच नदियां सतलज, रावी, ब्यास, चिनाब और झेलम हैं। पंजाब भारत और पड़ोसी देश पाकिस्तान के बीच स्पष्ट सीमा के रुप में काम करता है। इस राज्य के कुछ खास शहर लुधियाना, अमृतसर, जालंधर, नवांशहर, बठिंडा और आनंदपुर साहिब हैं। इन बताए गए शहरों के अलावा कपूरथला, तरनतारन साहिब और पटियाला भी पंजाब राज्य में स्थित हैं। अपने भरपूर जल स्रोतों और उपजाउ मिट्टी के कारण यह राज्य मुख्य तौर पर कृषि पर आधारित है।

पंजाब क्षेत्रफल के हिसाब से भारत का 19 वां सबसे बड़ा राज्य है, और जनसंख्या के हिसाब से 16 वां सबसे बड़ा राज्य है, 2011 की जनगणना के अनुसार पंजाब में 27,743,338 लोग हैं। आजके Article आप जानेंगे — पंजाब का क्षेत्रफल कितना है – Punjab ka Kshetrafal Kitna Hai.

पंजाब का क्षेत्रफल कितना है – Punjab ka Kshetrafal Kitna Hai

पंजाब का क्षेत्रफल कितना है

पंजाब (Punjab) भारत के उत्तर पश्चिम में स्थित एक राज्य है, जिसकी सीमाएँ पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर में जम्मू और कश्मीर राज्य, उत्तर पूर्व में हिमाचल प्रदेश और दक्षिण में हरियाणा और राजस्थान राज्य से मिलती हैं। ‘पंजाब’ शब्द फारसी के ‘पंज’ जिसका अर्थ होता है ‘पांच’ और ‘आब’ जिसका अर्थ होता है ‘पानी’ के मेल से बना है जिसका शाब्दिक अर्थ ‘पांच नदियों का क्षेत्र’ है। इसलिए इसे ‘पाँच नदियों की भूमि’ भी कहा जाता है।

पंजाब का क्षेत्रफल 50,362 वर्ग किमी है। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद पूर्वी पंजाब की आठ रियासतों को मिलाकर नए ‘पेप्सू’ राज्य अर्थात् पूर्वी पंजाब राज्य संघ पटियाला का निर्माण किया गया तथा पटियाला इसकी राजधानी बनाई गई। वर्ष 1956 में पेप्सू को पंजाब में मिला दिया गया तथा वर्ष 1966 में पंजाब के कुछ हिस्से को निकालकर हरियाणा राज्य बनाया गया। पंजाब 1849 ई. में ब्रिटिश शासन के अधीन था। स्वतंत्रता प्राप्ति के समय भारत-पाक विभाजन हुआ तथा पंजाब के दो हिस्सों में बांट दिया गया — पूर्वी पंजाब तथा पश्चिमी पंजाब (लाहौर)। इसकी सीमाएं उत्तर में जम्मू-कश्मीर, उत्तर-पूर्व में हिमाचल प्रदेश, दक्षिण्पा में हरियाणा एवं राजस्थान तथा पश्चिम में पाकिस्तान है। नदियों की बहुलता की वजह से राज्य का अधिकांश भू-भाग उपजाऊ है। राज्य का दक्षिण-पश्चिमी भाग अर्द्ध-शुष्क एवं मरुस्थलीय स्थलाकृतियों को प्रस्तुत करता है। राज्य का उत्तर-पूर्वी भाग, जो हिमाचल के गिरिपदीय प्रदेश का भाग है, एक उच्चावच अथवा ऊबड़-खाबड़ स्थलाकृति को प्रस्तुत करता है।

पंजाब का अधिकांश हिस्सा समतल मैदानी है, जो पूर्वोत्तर में समुद्र तल से लगभग 275 मीटर से दक्षिण-पश्चिम में लगभग 168 मीटर की ऊँचाई की अनुवर्ती ढलान वाला है। भौतिक रूप से इस प्रदेश को तीन हिस्सों में बाँटा जा सकता है। पूर्वोत्तर में 274-914 मीटर की ऊँचाई पर स्थित शिवालिक पहाड़ियाँ राज्य का बहुत ही छोटा हिस्सा हैं। दक्षिण में शिवालिक पहाड़ियाँ संकरे और लहरदार तराई क्षेत्र के रूप में फैली हुई हैं, जिनसे होकर कई मौसमी धाराएँ बहती हैं। इनका स्थानीय नाम चोस है और इनमें से कई मैदानों में किसी नदी में शामिल हुए बिना ही समाप्त हो जाती हैं। तीसरा क्षेत्र जलोढ़ उपजाऊ मिट्टी वाला विशाल समतल मैदान है। मैदानी क्षेत्र में नदियों के किनारे निम्नभूमि पर स्थित बाढ़ के मैदान और उनके बीच में कम ऊँचाई पर स्थित समतल क्षेत्रों को अलग-अलग पहचाना जा सकता है। पहले रेत के टीलों से ढके दक्षिणी-पश्चिमी ऊँचे क्षेत्र को सिंचाई के व्यापक विस्तार के साथ ही लगभग समतल कर दिया गया है, जिससे समूचा परिदृश्य परिवर्तित हो गया है।

पंजाब में कितने जिले है

पंजाब में कुल 22 ज़िले हैं। इनमें से कुछ ज़िले 1 नवंबर 1966 को पंजाब राज्य के गठन होने के बाद ही अस्तित्व में आ गये थे। जबकि कुछ ज़िले पिछले कुछ वर्षों में ही बनाए गए हैं। भारत के अन्य पूर्ण राज्यों के जिलों की ही तरह ये अभी 22 ज़िले, जिलाधिकारी के नियंत्रण में ही रहते है। प्रशासनिक आधार पर इन 22 ज़िलों को कुल 5 Division में बांटा गया है। पंजाब के ये 5 डिवीज़न पटियाला, रूपनगर, जालंधर, फरीदकोट तथा फिरोजपुर है।

पंजाब के सभी 22 ज़िलों में से कुछ ज़िले राज्य की अर्थव्यवस्था में बड़ा योगदान देते हैं। इन ज़िलों के कई बड़े शहर व्यापार का बड़ा केंद्र है। इस कारण काफी संख्या में लोग यहां रोजगार के लिए आते हैं। इसका बड़ा कारण यह है कि पंजाब के कई ज़िलों में बड़ी संख्या में उद्योग मौजूद है। भारत के सभी 28 पूर्ण राज्यों में से आर्थिक आधार पर पंजाब की स्तिथि काफी अच्छी है। पंजाब भारत का 14वां सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला राज्य है। पंजाब का कुल GDP 5.18 लाख करोड़ है। इसके अलावा Human Development Index में पंजाब तीसरे नंबर पर है।

पंजाब का इतिहास – History of Punjab in Hindi

पंजाब अखंड भारत का हिस्सा रहा है। यहां मौर्य, बैक्ट्रियन, यूनानी, शक, कुषाण, गुप्त जैसी अनेक शक्तियों का उत्थान और पतन हुआ। मध्यकाल में पंजाब मुसलमानों के अधीन रहा। सबसे पहले गज़नवी, ग़ोरी, गुलाम वंश, खिलजी वंश, तुग़लक़, लोधी और मुगल वंशो का पंजाब पर अधिकार रहा। पंद्रहवीं और सोलहवीं शताब्दी में पंजाब के इतिहास ने नया मोड़ लिया। गुरु नानक देव की शिक्षाओं से यहां भक्ति आंदोलन ने ज़ोर पकड़ा। सिख पंथ ने एक धार्मिक और सामाजिक आंदोलन को जन्म दिया, जिसका मुख्य उद्देश्य धर्म और समाज में फैली कुरीतियों को दूर करना था। दसवें गुरु गोबिंद सिंह ने सिखों को खालसा पंथ के रूप में संगठित किया तथा एकजुट किया। उन्होंने देशभक्ति, धर्मनिरपेक्षता और मानवीय मूल्यों पर आधारित पंजाबी राज की स्थापना की। एक फारसी लेख के शब्दों में महाराजा रणजीत सिंह ने पंजाब को सिख साम्राज्य में बदल दिया। किंतु उनके देहांत के बाद अंदरूनी साजिशों और अंग्रेजों की चालों के कारण पूरा साम्राज्य छिन्न-भिन्न हो गया। अंग्रेजों और सिखों के बीच दो निष्फल युद्धों के बाद 1849 में पंजाब ब्रिटिश शासन के अधीन हो गया।

स्वतंत्रता आंदोलन में गांधीजी के आगमन से बहुत पहले ही पंजाब में ब्रिटिश शासन के खिलाफ संघर्ष आरंभ हो चुका था। अंग्रेजों के खिलाफ यह संघर्ष सुधारवादी आंदोलनों के रूप में प्रकट हो रहा था। सबसे पहले आत्म अनुशासन और स्वशासन में विश्वास करने वाले नामधारी संप्रदाय ने संघर्ष का बिगुल बजाया। बाद में लाला लाजपतराय ने स्वतंत्रता संग्राम में अग्रणी भूमिका निभाई। चाहे देश में हो या विदेश में, पंजाब स्वतंत्रता संग्राम में हर मोर्चे पर आगे रहा। देश की आज़ादी के बाद पंजाब को विभाजन की विभीषिका का सामना करना पड़ा जिसमें बड़े पैमाने पर रक्तपात तथा विस्थापन हुआ। विस्थापित लोगों के पुनर्वास के साथ-साथ राज्य को नए सिरे से संगठित करने की भी चुनौती थी।

पूर्वी पंजाब की आठ रियासतों को मिलाकर नए राज्य ‘पेप्सू’ तथा पूर्वी पंजाब राज्य सघ-पटियाला का निर्माण किया गया। पटियाला को इसकी राजधानी बनाया गया। सन 1956 में पेप्सू को पंजाब में मिला दिया गया। बाद में पंजाबी सूबा आंदोलन के कारण 1966 में पंजाब से कुछ हिस्से निकालकर हरियाणा बनाया गया।

पंजाब देश के उत्तर-पश्चिमी भाग में स्थित है। इसके पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर में जम्मू और कश्मीर, उत्तर-पूर्व में हिमाचल प्रदेश और दक्षिण में हरियाणा तथा राजस्थान है।

पंजाब का अर्थव्यवस्था कैसे है

पंजाब एक कृषि प्रधान राज्य है। यहां गेंहू की सबसे अधिक बिजाई की जाती है। अन्य मुख्य फसलों में चावल, कपास, गन्ना, बाजरा, मक्का, चना और फल शामिल हैं। प्रमुख उद्योगों में कपड़ा और आटा शामिल है।

पंजाब पृथ्वी का सर्वाधिक उपजाऊ क्षेत्र रहा है। यह गेहूं उत्पादन के लिए आदर्श क्षेत्र है। चावल, गन्ना, सब्जियों एंव फलों भी यहां अच्छा उत्पादन होता है। भारतीय पंजाब को भारत का “अन्न-भण्डार” कहा जाता है। यहां भारत के कुल गेहूं उत्पादन का 60% और चावल का 40% उत्पादन होता है। विश्व के परिदृश्य में इन फसलों का विश्व के कुल उत्पादन का 1/30 वां अथवा 3% का योगदान करता है।

भारतीय पंजाब का आधारभूत ढांचा पूरे भारत में सर्वाधिक बेहतर में से है। यहां के निवासी औसत के आधार पर भारत के सर्वाधिक धनी लोग हैं।

FAQs

पंजाब का अर्थ क्या है?
पंजाब का अर्थ “पांच नदियों का क्षेत्र” है।

पंजाब शब्द का सबसे पहले उल्लेख किसके उल्लेख में मिलता है?
पंजाब शब्द का सबसे पहले उल्लेख इब्नबतूता के उल्लेख में मिलता है।

पंजाब का क्षेत्रफल कितना है?
पंजाब का क्षेत्रफल 50,362 वर्ग किलोमीटर है।

पंजाब की कुल जनसंख्या कितनी है?
पंजाब की कुल जनसंख्या 2,77,43,336 है।

पंजाब में कितने जिले है?
पंजाब में 22 जिले है।

पंजाब भारत से किस दिशा में स्थित है?
पंजाब भारत से उत्तर पश्चिम में स्थित है।

पंजाब का दूसरा भाग कहाँ स्थित है?
पंजाब का दूसरा भाग पाकिस्तान में स्थित है।

पंजाब की राजधानी कहाँ स्थित है?
पंजाब की राजधानी चंडीगढ़ है।

चंडीगढ़ और किस राज्य की भी राजधानी है?
चंडीगढ़ हरियाणा की भी राजधानी है।

पंजाब शब्द किन-किन फारसी भाषा के शब्द से मिलकर बना है?
पंजाब शब्द फारसी भाषा के शब्द पंज तथा आब से मिलकर बना है।

पंजाब का सबसे बड़ा जिला कौन सा है ?
फिरोजपुर सबसे बड़ा जिला है |

पंजाब की सीमा कितने देशों से लगती है?
पश्चिम में पाकिस्तान, उत्तर में जम्मू और कश्मीर, उत्तर-पूर्व में हिमाचल प्रदेश और दक्षिण में हरियाणा तथा राजस्थान।

पंजाब की पांच नदियां कौन कौन सी है?
झेलम, चेनाब, राबी, व्यास और सतलुज।

पंजाब में हिंदू आबादी कितनी है?
पंजाब में हिंदू आबादी 38% है।

पंजाब का गठन कब किया गया ?
1 नवम्बर 1966।

पंजाब का सबसे बड़ा शहर कौन सा है ?
लुधियाना।

हमारा अंतिम शब्द

तो दोस्तों आसा करता हु की आपको हमारे दिया गया जानकारी (पंजाब का क्षेत्रफल कितना है – Punjab ka Kshetrafal Kitna Hai) आपको पसंद आया होगा. अगर आपको पसंद आये तो हमें नीच Comments करके बताये और अपने दोस्तों के साथ और Social Media Platforms पर Share जरूर करे. धन्यवाद!

Leave a Comment