राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है – Rajasthan Ka Kshetrafal Kitna Hai

राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है – Rajasthan Ka Kshetrafal Kitna Hai : नमस्कार दोस्तों, आपको स्वागत है हमारे इस Blog पर, जहापर आज हम आपको बताएँगे “राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है – Rajasthan Ka Kshetrafal Kitna Hai”। राजस्थान (Rajasthan) राज्य भारत के बिख्यात थार रेगिस्तान के प्रसिद्ध है, क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत (India) का सबसे बड़ा राज्य कहा जाता है। राजस्थान एक विशाल भौगोलिक क्षेत्र है, जिसके एक हिस्से में मैदानी इलाके हैं तो दूसरा हिस्सा रेगिस्तान है. इस राज्य में पहाड़, वन-जंगल, नदियाँ, रेगिस्तान, घास के मैदान, सब-कुछ स्थित है।

राजस्थान (Rajasthan) को राजाओ कि भूमि कहा जाता है। राजस्थान उत्तर-पश्चिम भारत का एक राज्य है। जिसका कुल क्षेत्रफल भारत के कुल भौगोलिक क्षेत्र का 10.4 प्रतिशत शामिल है। आपके मन में प्रश्न आया होगा की — राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है – Rajasthan Ka Kshetrafal Kitna Hai. आज इस लेख कि मदद से “राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है – Rajasthan Ka Kshetrafal Kitna Hai” विस्तार से चर्चा करेंगे।

राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है – Rajasthan Ka Kshetrafal Kitna Hai

राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है

ईसा पूर्व 3000 से 1000 के बीच राजस्थान की संस्कृति सिंधु घाटी सभ्यता जैसी थी। 12वीं सदी तक राजस्थान के अधिकांश भाग पर गुर्जरों का राज्य रहा है। गुजरात तथा राजस्थान का अधिकांश भाग गुर्जरत्रा (गुर्जरों से रक्षित देश) के नाम से जाना जाता था। गुर्जर प्रतिहारो ने 300 सालों तक पूरे उत्तरी-भारत को अरब आक्रान्ताओ से बचाया था। बाद में जब राजपूतों ने इस राज्य के विविध भागों पर अपना आधिपत्य जमा लिया तो यह क्षेत्र ब्रिटिशकाल में राजपूताना (राजपूतों का स्थान) कहलाने लगा।

राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 3,42,239.74 वर्ग किलोमीटर (1,32,139.217 वर्ग मील) है। जो की संपूर्ण भारत के कुल क्षेत्रफल का 10.41% (1/10वां भाग) है। आजादी से पहले राजस्थान को राजपूताना कहा जता था जो उस समय सैकड़ों रियासतों में बंटा हुआ था और हर रियासत पर अलग राजा का शासन था. आजादी के बाद राजस्थान की इन 100 से ज्यादा रियासतों को एक करके संगठित राजस्थान बनाया गया. राजस्थान की स्थापना 30 मार्च, 1949 को हुई थी, जिसमें सिरोही जिला बाद में 26 जनवरी, 1950 को शामिल हुआ।

क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य राजस्थान है जो की 1 नवम्बर 2000 को भारत का सबसे बड़ा राज्य बना था क्योकी 1 नवम्बर 2000 से पहले क्षेत्रफल की दृष्टि से भारत का सबसे बड़ा राज्य मध्य प्रदेश था 1 नवम्बर 2000 को मध्य प्रदेश से काटकर भारत का 26वां राज्य छत्तसगढ़ बनाया गया था जिसके कारण मध्य प्रदेश का क्षेत्रफल कम हो गया तथा भारत का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा राज्य राजस्थान बन गया था।

राजस्थान का भौगोलिक स्थिति क्या है?

राजस्थान का अक्षांशीय मान 23°03′ से 30°12′ तक है। राजस्थान का अक्षांशीय मान 23°03′ बांसवाड़ा जिले की कुशलगढ़ तहसील के बोरकुंड गांव में है।राजस्थान का अक्षांशीय मान 30°12′ श्री गंगानगर जिले की गंगानगर तहसील के कोणा गांव में है।

राजस्थान का देशांतरीय मान 69°30′ से 78°17′ तक है।राजस्थान का देशांतरीय मान 69°30′ जैसलमेर जिले की सम तहसील के कटरा गांव में है।राजस्थान का देशांतरीय मान 78°17′ धौलपुर जिले की राजाखेड़ा तहसील के सिलाना/ सिलाॅन गांव में है।

राजस्थान के पूर्वी तथा पश्चिमी देशांतरों के बीच 08°47′ (लगभग 9°) का अंतर है इसीलिए पूर्वी तथा पश्चिमी राजस्थान में सर्योदय तथा सूर्यास्त में लगभग 36 मीनट का अंतर है क्योकि पृथ्वी 1° देशांतर रेखा को पार करने में 4 मीनट का समय लेती है। (9°×4 मीनट= 36 मीनट)।

राजस्थान कहाँ स्थित है?

भारतीय मानचित्र पर राजस्थान की स्थिति उत्तर-पश्चिम दिशाओं में है। गोलार्द्ध की दृष्टि से राजस्थान की स्थिति उत्तरी-पूर्वी गोलार्द्ध में है। देशांतरीय दृष्टि से राजस्थान की स्थिति पूर्वी देशांतर में है।

राजस्थान की उत्तर से दक्षिण तक कुल लम्बाई 826 किलोमीटर है। अर्थात राजस्थान के कोणा गांव (श्री गंगानगर) से लेकर बोरकुंड गांव (बांसवाड़ा) तक कुल लम्बाई 826 किलोमीटर है।

राजस्थान की पूर्व से पश्चिम तक कुल चौड़ाई 869 किलोमीटर है। अर्थात राजस्थान के सिलाना/ सिलाॅन गांव (राजाखेड़ा तहसील, धौलपुर) से लेकर कटरा गांव (सम तहसील, जैसलमेर) तक कुल चौड़ाई 869 किलोमीटर है।

राजस्थान का सीमा क्या है?

राजस्थान भारत के पांच राज्यों से अपनी सीमा साझा करता है। उत्तर में पंजाब, उत्तर पूर्व में हरियाणा और उत्तर प्रदेश, दक्षिण पूर्व में मध्य प्रदेश, और दक्षिण पश्चिम में गुजरात और यह हमारे पडोसी देश पाकिस्तान से भी अपनी सीमा साझा करता है।

राजस्थान राज्य का स्थापना कब हुई? – राजस्थान राज्य का गठन कब हुआ?

आज का राजस्थान राज्य सात (7) चरणों में गठन हुए है —

• 18 मार्च, 1948 को अलवर, भरतपुर, धौलपुर, करौली रियासतों का विलय होकर ‘मत्स्य संघ’ बना। धौलपुर के तत्कालीन महाराजा उदयसिंह राजप्रमुख व अलवर राजधानी बनी।
• 25 मार्च, 1948 को कोटा, बूंदी, झालावाड़, टोंक, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, किशनगढ़ व शाहपुरा का विलय होकर राजस्थान संघ बना।
• 18 अप्रॅल, 1948 को उदयपुर रियासत का विलय। नया नाम ‘संयुक्त राजस्थान संघ’ रखा गया। उदयपुर के तत्कालीन महाराणा भूपाल सिंह राजप्रमुख बने।
• 30 मार्च, 1949 में जोधपुर, जयपुर, जैसलमेर और बीकानेर रियासतों का विलय होकर ‘वृहत्तर राजस्थान संघ’ बना था। यही राजस्थान की स्थापना का दिन माना जाता है।
• 15 अप्रॅल, 1949 को ‘मत्स्य संघ’ का वृहत्तर राजस्थान संघ में विलय हो गया।
• 26 जनवरी, 1950 को सिरोही रियासत को भी वृहत्तर राजस्थान संघ में मिलाया गया।
• 1 नवंबर, 1956 को आबू, देलवाड़ा तहसील का भी राजस्थान में विलय हुआ, मध्य प्रदेश में शामिल सुनेल टप्पा का भी विलय हुआ।

राजस्थान का भूमिभाग का स्थिति कैसे है?

राजस्थान का भूमिभाग अरावली पर्वत की श्रृंखला आबू पर्वत के गुरु शिखर से प्रारम्भ होकर अलवर के सिंघाना तक विस्तृत है ।

विश्व की इस प्राचीन पर्वत श्रृंखला का उत्तर-पश्चिमी भाग वर्षा के अभाव में सूखा रह गया है, यह क्षेत्र अरावली पर्वत की सूखी ढाल पर है, उत्तर-पश्चिमी भाग विशेषकर जोधपुर, जैसलमेर व बीकानेर का भू-भाग आता है।

राजस्थान की जलवायु शुष्क है। यहां पर विशाल एवं उच्च बालू रेत के टीलों की प्रधानता है इस क्षेत्र में वर्षा के अभाव के कारण प्रागैतिहासिककाल मे बसावट की गहनता का अभाव दिखाई देता है।

इस क्षेत्र मे बहने वाली प्रमुख नदियों में लूनी नदी महत्वपूर्ण है। यह अजमेर के आनासागर से निकल कर जोधपुर, बाड़मेर व जालौर जिलो का सिंचन कर कच्छ की खाड़ी मे जा समाप्ती हैं। सूकडी, जोजरी, बांडी सरस्वती, मीठडी आदि इसकी सहायक नदियां है।

अरावली पर्वत श्रृंखला के दक्षिणी पूर्वी भाग में अच्छी वर्षा होती है तथा यहां कई नदियों बहती है इसलिए राजस्थान का यह भाग अत्यन्त उपजाऊ हैं । इस क्षेत्र में रहने वाली प्रमुख नदियों में चम्बल बनास, बेडच, बनास की सहायक कोठारी कालिसिंध, माही, साबरमती आदि नदियां हैं । सामाजिक विकास के प्रारंभिक स्तर पर प्रागैतिहासिक मानव के इतिहास का स्वरूप ज्यादा इस पर निर्भर था कि वह किस प्रकार वहां तत्कालीन पर्यावरण के साथ परस्पर सम्पर्क करता था । बिना भूगोल के इतिहास अधूरा रहता है और अपने एक प्रमुख तत्व से वंचित हो जाता हैं। यही कारण है कि इतिहास को मानव जाति के इतिहास और पर्यावरण का इतिहास दोनो ही परस्पर एक दूसरे को प्रभावित करते हैं। मिट्टी, वर्षा, वनस्पति, जलवायु और पर्यावरण मानव संस्कृति के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है ।

क्षेत्रफल के हिसाब से राजस्थान का सबसे बड़ा जिला कोनसी है?

राजस्थान में क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला जैसलमेर है। जैसलमेर का कुल क्षेत्रफल 38,401 वर्ग किलोमीटर है। जैसलमेर जिला राजस्थान के कुल क्षेत्रफल का 11.22% क्षेत्रफल को घेरता है। क्षेत्रफल की दृष्टि से जैसलमेर जिला धौलपुर जिले से 12.66 गुना बड़ा है।

क्षेत्रफल के हिसाब से राजस्थान का सबसे छोटा जिला कोनसी है?

राजस्थान में क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा जिला धौलपुर है। धौलपुर का कुल क्षेत्रफल 3034 वर्ग किलोमीटर है। धौलपुर जिला राजस्थान के कुल क्षेत्रफल का 0.89% (लगभग 1%) क्षेत्रफल घेरता है।

राजस्थान राज्य के आकर्षक पर्यटन स्थल – Famous Tourism Places in Rajasthan in Hindi

भारत में पर्यटन की दृष्टी से राजस्थान राज्य प्रमुख राज्यों में से एक माना जाता है, जिसके सालाना आय के स्त्रोतों में पर्यटन से आनेवाला मुनाफा काफी ज्यादा होता है। इसकी प्रमुख वजह है यहाँ के सुंदर वास्तु, भवन, महल तथा प्राकृतिक सुंदर स्थल, ऐसेही कुछ प्रमुख स्थलों का विवरण हम यहाँ निचे दे रहे है, जिनमे शामिल स्थल इस प्रकार से है –

गुरु शिखर, ढेबर लेक, अचलगढ़ किला, घंटा घर, मन सागर लेक, माउंट अबू, मंडोर गार्डन, भारतीय लोक कला मंडल, खिमसर किला, हवा महल, सिटी पैलेस जयपुर, जल महल, फ़तेह सागर लेक, चित्तौरगढ़ किला, अंबर पैलेस, मेहरानगढ़ म्यूजियम और ट्रस्ट, सिटी पैलेस उदयपुर, पिचोला लेक, जंतर मंतर, जसवंत थड़ा, सज्जनगढ़ मानसून पैलेस, रणथम्बोर किला, अल्बर्ट हॉल म्यूजियम, जूनागढ़ किला, पुष्कर लेक, सहेलियों की बारी, गड़ीसर लेक, डेजर्ट नॅशनल पार्क, आनासागर लेक, विजय स्तंभ चित्तौरगढ़, उमेद भवन पैलेस, कुंभलगढ़ किला, जैसलमेर किला, नाहरगढ़ किला, जयगढ़ किला, रामबाग पैलेस

FAQs

राजस्थान में लोकसभा सदस्य संख्या कितनी है?
राजस्थान में लोकसभा सदस्य संख्या 25 है।

राजस्थान में राज्यसभा सदस्य संख्या कितनी है?
राजस्थान में राज्यसभा सदस्य संख्या 10 है।

राजस्थान का एकीकरण कितने चरणों में हुआ था?
राजस्थान का एकीकरण सात चरणों में हुआ था।

राजस्थान का एकीकरण कब पूरा हुआ था?
राजस्थान का एकीकरण नवम्बर 1957 ई। में पूरा हुआ था।

राजस्थान की राजधानी कहाँ स्थित है?
राजस्थान की राजधानी जयपुर है।

राजस्थान शब्द का अर्थ क्या है?
राजस्थान शब्द का अर्थ है “राजाओं का स्थान”।

राजस्थान में कुल कितनी देशी रियासतें थी?
राजस्थान में कुल 22 देशी रियासतें थी।

राजस्थान के एकीकरण की प्रकिया कब शुरू हुई थी?
18 मार्च 1948 को राजस्थान के एकीकरण की प्रकिया शुरू हुई थी।

राजस्थान में कितने राज्य है?
राजस्थान में 33 राज्य है।

क्षेत्रफल के आधार पर भारत का सबसे बड़ा राज्य कौनसा है?
राजस्थान क्षेत्रफल के आधार पर भारत का सबसे बड़ा राज्य है।

राजस्थान में कितने संभाग है?
राजस्थान में 7 संभाग है।

राजस्थान में विधानसभा सदस्य संख्या कितनी है?
राजस्थान में विधानसभा सदस्य संख्या 200 है।

राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है?
राजस्थान का क्षेत्रफल 3,42,239 वर्ग कि॰मी॰ है।

प्राचीन समय में राजस्थान में किसका शासक था?
प्राचीन समय में राजस्थान में आदिवासी कबीलों का शासक था।

ब्रिटिश काल में राजस्थान लिस नाम से जाना जाता था?
ब्रिटिश काल में राजस्थान राजपुताना के नाम से जाना जाता था।

हमारा अंतिम शब्द

तो दोस्तों आसा करता हु की आपको हमारे दिया गया जानकारी (राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है – Rajasthan Ka Kshetrafal Kitna Hai) आपको पसंद आया होगा. अगर आपको पसंद आये तो हमें नीच Comments करके बताये और अपने दोस्तों के साथ और Social Media Platforms पर Share जरूर करे. धन्यवाद!

1 thought on “राजस्थान का क्षेत्रफल कितना है – Rajasthan Ka Kshetrafal Kitna Hai”

Leave a Comment